hass1

hass1

ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी ने आज हैदराबाद के ऐतहासिक चार मीनार के पास स्थित 400 वर्ष पुरानी मक्का मस्जिद में जुमे की नमाज अदा की. मक्का मस्जिद में नमाज अदा करने वाले हसन रूहानी पहले ईरानी राष्ट्रपति हैं.

इस दौरान उनके साथ साथ तेलंगाना के उप मुख्यमंत्री महमूद अली और ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी समेत कई गण्यमान्य लोगों ने भी नमाज अदा की.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

hassna

ध्यान रहे मक्का मस्जिद का निर्माण कार्य शिया शासक सुलतान मोहम्मद द्वारा 1616-17 में शुरू किया था और इसे सुन्नी शासक आसफ जाह ने पूरा कराया था.

इस दौरान उन्होंने कहा किकहा कि “इस्लाम के दुश्मन” हिंसा के धर्म के रूप में इस्लाम को बदनाम करना चाहते है. “इस्लाम हिंसा का धर्म नहीं है. इस्लाम धर्म दया का धर्म है.”

उन्होंने आगे कहा कि, ईरान, राजनयिक समस्याओं के लिए सैन्य समाधान में विश्वास नहीं करता है, लेकिन “जब युद्ध शुरू हो जाता है, तब लोगों को खुद का बचाव करने के लिए कोई दूसरा विकल्प नहीं होता.”

रूहानी ने कहा कि उनका देश अफगानिस्तान, सीरिया, इराक और यमन में लोगों के लिए “बाधाओं” को दूर करना चाहता है. लेकिन इसका समाधान का तरीका सैन्य नहीं है.

Loading...