लखनऊ | उत्तर प्रदेश की कमान सँभालने के बाद योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को बड़ी कार्यवाही करते हुए एक आईपीएस अधिकारी को निलंबित कर दिया. आरोप है की इस अधिकारी ने ट्वीट कर आरोप लगाया था की योगी राज में यादव पुलिसकर्मियों को प्रताड़ित किया जा रहा है. आईपीएस के निलंबन का आधार उसी ट्वीट को माना जा रहा है. बड़ी बात यह है की खुद मुख्यमंत्री के आदेश पर अधिकारी का निलंबन किया गया.

दरअसल आईपीएल अधिकारी हिमांशु कुमार ने बुधवार को एक ट्वीट कर हडकंप मचा दिया. उन्होंने ट्वीट में लिखा की ‘ यहाँ वरिष्ट अधिकारियो में यादव सरनेम वाले पुलिसकर्मियों को सस्पेंड करने या उन्हें लाइन हाजिर करने की होड़ मची हुई है.’ उन्होंने आगे सवाल किया की आखिर क्यों डीजीपी ऑफिस,  अधिकारियो को निर्देश दे रहा है की वो जाति के नाम पर लोगो को दण्डित करे?

हिमांशु कुमार , यादव परिवार के बेहद करीबी माने जाते है. यही कारण है की उन्हें अखिलेश राज में मन चाही पोस्टिंग मिलती रही. लेकिन चुनाव की तारीखों के एलान के साथ ही उनको चुनाव आयोग ने फिरोजाबाद के एसपी पद से भी हटा दिया था. अब प्रदेश में योगी राज आते ही उन्होंने एक नए बखेड़ा खड़ा कर दिया. बताया जा रहा है की उनके निलंबन के आदेश खुद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दिए है.

हालाँकि अधिकारियो का कहना है की हिमांशु को अनुशासनहीनता की वजह से निलंबित किया गया है. इसके अलावा उनके ऊपर बिहार में भी एक केस चल रहा है जिसमे उनके खिलाफ जमानती वारंट जारी हुए है. उनके ऊपर उनकी पत्नी प्रिया ने दहेज़ उत्पीडन का मामला दर्ज कराया है. सस्पेंड होने के बाद हिमांशु ने दूसरा ट्वीट करते हुए लिखा की सत्य की जीत होती है.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?