modi15

बीजेपी संसदीय दल की बैठक को संबोधित करते शुक्रवार को प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी ने नोटबंदी को लेकर कांग्रेस पर पलटवार करते हुए कहा कि साल 1971 में पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के समय में भी नोटबंदी का प्रस्ताव आया था. लेकिन उस दौरान सत्ताधारी कांग्रेस पार्टी ने चुनाव हार के डर से इसे लागू नहीं किया.

उन्होंने कहा कि तत्कालीन वरिष्ठ नौकरशाह निरंजन नाथ वांचू कमेटी ने इंदिरा गांधी से इसे लागू करने की सिफारिश की थी. इसे बाद में उस समय के वित्त मंत्री वाईबी चव्हाण ने लेकर गए थे. इस पर इंदिरा ने कहा था, ‘क्या अब कांग्रेस को आगे चुनाव नहीं लड़ना है?

पीएम ने कहा, ‘आप मुझे बताइए कि देश बड़ा या दल. उनके लिए पार्टी बड़ी है पर हमारे देश, दल से ऊपर है?’ पीएम ने कहा कि आज की राजनीति का स्तर काफी नीचे गिर चुका है, आजे का विपक्ष तो सेना पर भी सवाल कर रहा है.

पीएम मोदी ने कहा कि पहले और अब की सरकार में काफी कुछ बदल चुका है. पहले सत्तापक्ष घोटाला करता था और विपक्ष संघर्ष करता था, लेकिन आज सत्ता दल ने कालेधन और करप्शन के खिलाफ मुहिम शुरू की है, जबकि विरोधी दल इसके खिलाफ खड़े हैं.

उल्‍लेखनीय है कि आठ नवंबर की नोटबंदी की घोषणा के बाद से कांग्रेस लगातार सरकार को इस मोर्चे पर घेर रही है. राहुल गांधी ने तो बाकायदा इसके खिलाफ मुहिम छेड़ रही है.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें