उत्तर प्रदेश के पीलीभीत में नेपाल पुलिस की फायरिंग में एक भारतीय नागरिक की मौत के बाद सीमावर्ती इलाके में तनाव के हालात बन गए है। हालंकि नेपाल के अफसरों ने घटना की निष्पक्ष जांच का आश्वासन दिया है।

जानकारी के अनुसार, हजारा थाना क्षेत्र के गांव राघवपुरी टिल्ला नंबर चार के गोविंदा सिंह, गुरमीत सिंह, पप्पू सिंह नेपाल के बेलौरी बाजार में किसी काम से गए थे। शाम को वापस लौटते समय नेपाली पुलिस से किसी बात को लेकर उनकी झड़प हो गई।

इस दौरान फायरिंग में गोविंदा सिंह (26) गंभीर घायल हो गया। बेलौरी प्राथमिक अस्पताल में उसकी मौत हो गई। नेपाल पुलिस ने मुठभेड़ में एक युवक की मौत और दो युवकों के फरार होने की बात कही है।

मामले में पीलीभीत के पुलिस अधीक्षक जयप्रकाश ने बताया कि तीन भारतीय नागरिक नेपाल गए थे, वहां नेपाली पुलिस से आमना सामना हो गया, इस मुठभेड़ में नेपाली पुलिस की गोली से एक युवक की मौत हो गई है। एसपी जयप्रकाश के मुताबिक, मृतक के दोनों साथियों में से एक नेपाल में है, जबकि दूसरा भारत आ गया है, लेकिन अभी दोनों लापता हैं।

वहीँ एडीजी अविनाश चंद्र ने कहा कि एक दिन पूर्व नेपाल पुलिस की गोली लगने से एक युवक की मौत हो गई थी। इस संबंध में नेपाल के कंचनपुर जिले के अधिकारियों के साथ बैठक हुई है। इसमें घटना की निष्पक्ष जांच का आश्वासन मिला है। एक ब्हाट्सएप ग्रुप भी बनाया जाएगा। संयुक्त पेट्रोलिंग भी पहले से बेहतर की जाएगी। परिवार से भी मुलाकात की गई है। हालात पूरी तरह से सामान्य हैं।