नई दिल्ली | कश्मीर के उरी में भारतीय सेना के जवानों पर हुए आतंकी हमले के बाद दोनों देश , भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव की स्थिति चल रही है. वही सीमा पर भी तनाव अपने चरम पर है. अब यह तनाव इन्टरनेट की दुनिया में प्रवेश कर चूका है. दोनों और से इन्टरनेट युद्ध आरंभ हो चूका है. बस फर्क इतना है की यहाँ सैनिक की बजाय दोनों और के हैकर युद्ध लड़ रहे है

मंगलवार को पाकिस्तान के एक हैकर ग्रुप ने दावा किया था की उन्होंने भारत के टॉप 10 शिक्षण संस्थानों की वेबसाइट हैक कर ली है. पाकिस्तान हैकर ने दिल्ली आईआईटी से लेकर अलीगढ मुस्लिम यूनिवर्सिटी तक की वेबसाइट हैक की. इन सभी वेबसाइट के होम पेज पर हैकर ने एक सन्देश भी लिखा था. जिसमे भारतीय सैनिक को रेपिस्ट और कश्मीरियों पर अत्याचार करने वाला बताया गया.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

अब बारी भारतीय हैकर की थी. उन्होंने भी पलटवार करते हुए पाकिस्तान की 500 वेबसाइट हैक करने का दावा किया. भारत के हैकर ग्रुप टीम इंडियन ब्लैक हैट ने दावा किया की उन्होंने पाकिस्तान सरकार के अधीन आने वाली कई वेबसाइट को हैक किया है. इनमे कुछ वेबसाइट ऐसी भी है जो एचटीटीपीएस से सुरखित थी. यही नही पाकिस्तान की पीपल्स पार्टी की वेबसाइट को भी हैक किया गया.

हालाँकि हैक हुई वेबसाइट पर केरल के हैकर ग्रुप टीम केरला साइबर वॉरियर्स का नामा लिखा हुआ है लेकिन मीडिया रिपोर्ट्स का कहना है की यह काम कई सारे हैकर ग्रुप ने मिलकर किया है. इसके अलावा सभी वेबसाइट रैंजमवेयर के जरिये हैक की गयी है. रैंजम का मतलब यह है की सभी वेबसाइट एक निश्चित रकम देने के बाद वापिस अपनी पुरानी स्थिति में लौटा दी जायेगी. मतलब सभी वेबसाइट को पैसो के लिए हैक किया गया है.

Loading...