अमेरिका की एक टॉप मैगजीन ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नोटबंदी के फैसले पर सवाल उठाते हुए इस फैसले को अब तक का ससे नुकसानदायक फैसला करार दिया है.

फॉरेन अफेयर्स मैगजीन ने अपने ताजा एडिशन में कहा कि मोदी द्वारा नोटबंदी के विघटनकारी प्रयोग की वजह से भारत की अर्थव्यवस्था में ठहराव आ गया. जिसके चलते भारत की कैश आधारित अर्थव्यस्था में भारतीय अर्थव्यवस्था को इतिहास में सबसे ज्यादा नुक़सान पहुंचा है.

लेखक जेम्स क्रेबट्री ने लिखा कि  भारत सरकार ने नोटबंदी के लिए जितने पर बड़े लेवल पर काम किया उसने अर्थव्यवस्था पर उतना असर नहीं डाला। बल्कि लोगों को काफी निराश किया है.

रिपोर्ट में आगे कहा गया कि करोड़ों लोगों को 500 और 1000 के नोट बदलने के लिए कैश मशीन और बैंक की लंबी कतारों में लगना पड़ा.  इस दौरान ग़रीबों को सबसे अधिक परेशानी का सामना करना पड़ा. अपने इस फैसले से मोदी सरकार को सीख लेनी चाहिए.

कोहराम न्यूज़ को सुचारू रूप से चलाने के लिए मदद की ज़रूरत है, डोनेशन देकर मदद करें








Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें