जम्मू-कश्मीर के केरन सेक्टर में नियंत्रण रेखा पर जासूसी कर रहे एक क्वाडकॉप्टर को सेना ने मार गिराया। चीनी कंपनी डीजेआई माविक 2 प्रो मॉडल द्वारा बनाए गए इस जासूसी ड्रोन को एलओसी के पास सुबह करीब आठ बजे उड़ान भरते हुए देखा गया था।

क्वॉडकॉप्टर अनमैंड एरियल व्‍हीकल (UAV) या ड्रोन होते हैं। इसकी मदद से पाकिस्तान भारतीय क्षेत्र की जासूसी करता है। इनके जरिये वह आतंकियों को हथियार और जरूरी सामान पहुंचाने की भी कोशिश करता है। पहले भी जम्‍मू-कश्मीर के पीर पंजाल रेंज में ड्रोन के जरिए आतंकियों के लिए हथियार भेजने के मामले सामने आए थे।

बीते महीने, रजौरी सेक्टर में आतंकी संगठन के लिए हथियारों की खेप एक ड्रोन के जरिए गिराई गई थी। इस सिलसिले में तीन आतंकवादियों को उस वक्त पकड़ा गया था, जब वह हथियारों की इस खेप को लेने जा रहे थे। जून में जम्मू-कश्मीर के कठुआ के पनसर इलाके में बीएसएफ ने पाकिस्तानी ड्रोन को शूट कर दिया था। इस ड्रोन के जरिए आतंकियों के लिए हथियार भेजे गए थे। इसमें एक अमेरिकी राइफल, दो मैग्जीन और दूसरे हथियार थे।

पिछले साल साल नवंबर महीने में पंजाब के हुसैनवाला सेक्टर में पाकिस्तान की सीमा के इलाके में एक ड्रोन उड़ते देखा गया जिसके बाद से सेना हरकत में आ गई थी।

Loading...
विज्ञापन
अपने 2-3 वर्ष के शिशु के लिए अल्फाबेट, नंबर एंड्राइड गेम इनस्टॉल करें Kids Piano