Tuesday, August 3, 2021

 

 

 

सिक्किम और लद्दाख में भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच झड़प, हुई हाथापाई

- Advertisement -

भारत-चीन बॉर्डर पर भारतीय सैनिकों और चीन आर्मी के बीच इस हफ्ते दो बार कड़ी झड़प हुई है। जिसमे दोनों और सैनिकों के मीडिया रिपोर्ट में घा’यल होने का दावा किया जा रहा है।

- Advertisement -

जानकारी के अनुसार, शनिवार को भारत-चीन सीमा से लगने वाले सिक्किम सेक्टर के नाकू ला के पास और इससे पहले 5 अप्रैल को देर रात ईस्ट लद्दाख में दोनों तरफ के सैनिकों के बीच हाथापाई और पत्थरबाजी हुई थी। दोनों जगहों पर स्थानीय कमांडर स्तर पर बातचीत से इस टकराव को खत्म किया गया।

खबरों के मुताबिक, दोनों ही तरफ के लगभग आधा दर्जन सैनिक घाय’ल हुए हैं। हालांकि आधिकारिक तौर पर अभी इसकी पुष्टि नहीं की गई है. सूत्रों के मुताबिक बातचीत के बाद मसला सुलझा लिया गया है। एक सूत्र ने बताया, “सैनिक निर्धारित प्रोटोकॉल के अनुरूप परस्पर समझ से ऐसे मामलों को सुलझा लेते हैं। इस तरह की घटना काफी समय बाद हुई है।”

इससे पहले साल 2017 में दोनों देशों के बीच सिक्किम क्षेत्र में भीषण तनाव देखने को मिला था। तब यह इतना बढ़ा था कि भारत के शीर्ष सैन्य अफसरों ने कई दिनों तक इलाके में कैंपिंग की। इन अधिकारियों में 17वीं डिविजन के जनरल ऑफिसर कमांडिंग भी शामिल थे। दोनों देशों के सैनिकों के बीच धक्कामुक्की की घटना के बाद विदेश मंत्रालय और दिल्ली स्थित सैन्य मुख्यालय तक हलचल रही।

दरअसल चीनी सेना इस इलाके में सड़क निर्माण करने की कोशिश कर रही है। चीन पहले ही सामरिक लिहाज से बेहद अहम माने जाने वाले चुंबी घाटी इलाके में सड़क बना चुका है, जिसे वह और विस्तार देने की कोशिश कर रहा है। यह सड़क भारत के सिलिगुड़ी कॉरिडोर या कथित ‘चिकन नेक’ इलाके से महज पांच किमी दूर है। यह सिलिगुड़ी कॉरिडोर ही भारत को नॉर्थ ईस्ट के राज्यों से जोड़ता है। इसी कारण से भारतीय सैनिकों और चीनी सेना के बीच अक्सर टकराव होता रहता है। साल 2017 में भी टकराव की यही वजह थी जब पीएलए के जवानों को विवादित इलाके में निर्माण कार्य करने से भारतीय सेना ने रोक दिया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles