Tuesday, November 30, 2021

भारत जल्द ही फिलिस्तीन को आजाद देखना चाहता है: पीएम मोदी

- Advertisement -

modi in pal

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपनी ऐतिहासिक यात्रा पर आज फिलिस्तीन पहुंचे है. इस दौरान राष्ट्रपति महमूद अब्बास ने प्रोटोकॉल तोड़कर पीएम मोदी का स्वागत किया. इसके बाद पीएम मोदी ने यासिर अराफात को श्रद्धांजलि दी. भारत और फिलिस्तीन के संबंधों में महत्वपूर्ण योगदान के लिए प्रेसिडेंशियल हेडक्वार्टर में पीएम मोदी को ‘Grand Collar’ ऑर्डर का गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया. यह विदेशी मेहमानों को दिया जाने वाला फिलिस्तीन का सर्वश्रेष्ठ सम्मान है.

इस दौरान नरेंद्र मोदी ने कहा कि भारत फिलिस्तीन के हितों के प्रति वचनबद्ध है. मैं आपकी शानदार मेहमान नवाजी के लिए फिलिस्तीन का धन्यवाद करता हूं. उन्होंने कहा कि आपने मेरे सम्मान में जो शब्द कहें और जिस गर्मजोशी के साथ मेरा और मेरे शिष्टमंडल का स्वागत किया, उसके लिए मैं आपका हृदय से आभार व्यक्त करता हूं. आज आपने मुझे फिलीस्तीन के सर्वोच्च सम्मान से नवाजा है. ये मेरे साथ-साथ पूरे भारत के लिए सम्मान का विषय है. मैं सवा सौ करोड़ देशवासियों की ओर से आपका शुक्रिया करता हूं.

पीएम मोदी ने कहा कि भारत और फिलिस्तीन का संबंध समय की कसौटी पर खरा उतरा है. फिलिस्तीन हमारी विदेश नीति में हमेशा टॉप पर रहा है. उन्होंने कहा कि मुझे यह घोषणा करने में खुशी हो रही है कि हम इस साल छात्रों की संख्या आदान-प्रदान को दोगुना कर 50 से 100 कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि हमारी मित्रता को नवीनता प्रदान करते हुए मुझे खुशी हो रही है. अबू अमार को श्रद्धांजलि देने का मुझे मौका मिला. अबू अमार भारत के भी एक विशिष्ट मित्र थे. मैं अबू अमार को एक बार फिर आदर पूर्वक श्रद्धांजलि प्रदान करता हूं.

उन्होंने कहा कि फिलिस्तीन के लोगों ने निरंतर चुनौतियों और संकट की स्थिति में अद्भुत साहस का परिचय दिया. आपने परिस्थितियों से निबटने के लिए चट्टान जैसी शक्ति से भी निबटने का काम किया है. प्रगति को बाधित करने वाले चुनौतियों से भी आपने संघर्ष किया है. जिन चुनौतियों और बाधाओं के बीच आप आगे बढ़ें हैं वो सराहनीय हैं. हम आपके उज्जवल भविष्य की मंगलकामना करते हैं. भारत आपका पुराना सहयोगी है.

पीएम मोदी ने कहा कि हम फिलिस्तीन में शांति और स्थिरता की आशा करते हैं, हमें विश्वास है कि बातचीत से ही एक स्थायी समाधान संभव हो पाएगा. केवल कूटनीति और दूरदृष्टि ही हिंसा से मुक्ती दिला सकता है. हम जानते हैं कि यह आसान नहीं है, लेकिन हमें प्रयास करना जारी रखना चाहिए क्योंकि बहुत कुछ दांव पर है.

पीएम मोदी ने कहा कि मैंने राष्ट्रपति अब्बास को आश्वासन दिया है कि भारत फिलीस्तीनी लोगों के हितों का हमेशा ख्याल रखेंगे. भारत को उम्मीद है कि जल्द ही फिलिस्तीन एक शांतिपूर्ण तरीके से स्वतंत्र देश के रूप में सामने आएगा.

- Advertisement -

[wptelegram-join-channel]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles