रेप और ऐसिड अटैक पीड़ित को मिलेगा इतने लाख का मुआवज़ा

1:41 pm Published by:-Hindi News
molest

देश में जिस तरह से आए दिन बेटियों को दरिन्दे अपना निशाना बना रहे है. अब देश में देश की बेटियाँ ही सुरक्षित नहीं है. देश में यतियों और महिलाओं की ज़रूरतों को मद्देनज़र रखते हुए नैशनल लीगल सर्विसेज अथॉरिटी ने मुआवजे की राशि तय की है. जिसमें रेप और ऐसिड अटैक जैसी जघन्य घटनाओं से पीड़ित महिलाओं को आर्थिक मदद देने के लिए उचित मुआवज़ा दिया जाएगा.

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, नैशनल लीगल सर्विसेज अथॉरिटी ने केद्र सरकार के सहयोग के बाद अथॉरिटी ने 5 से 7 लाख रुपये का न्यूनतम मुआवजा दिए जाने की रिलीफ पॉलिसी तैयार की है. इस स्कीम के तहत रेप और गैंगरेप पीड़ितों को मदद देने के लिए न्यूनतम राशि तय की जाएगी. अथॉरिटी ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश के आधार पर यह स्कीम तैयार की गई है.

अथॉरिटी द्वारा लिए गये फैसले में रेप, गैंगरेप और ऐसिड अटैक से पीड़ित ग्रामीण महिलाओं और पीड़ित परिवारों को मदद देने की बात कही गई है, जो संसाधनों से हीन हैं और कानूनी लड़ाई के लिए महिलाओं की मदद होगी. स्कीम के मुताबिक गैंगरेप या जान चली जाने के मामलों  पर पीड़ित या उसके परिवार को न्यूनतम 5 लाख रुपये और अधिकतम 10 लाख रुपये की मदद राशि तक का मुआवज़ा दिया जाएगा.

इसके अलावा रेप या अप्राकृतिक सेक्स के मामले में न्यूनतम 4 लाख रुपये की राशि दी जाएगी. शरीर के किसी अंग को नुकसान पहुंचने या फिर 80 फीसदी तक विकलांगता की स्थिति में 2 लाख रुपये दिए जाएंगे. इसके अलावा गंभीर रूप से चोट लगने पर भी 2 लाख रुपये का प्रावधान है. आपको बता दें कि सरकार की यह स्कीम देश भर के सभी राज्यों में लागू होगी.

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, भ्रूण को नुकसान पहुंचने या फिर गर्भपात होने की स्थिति में भी न्यूनतम 2 लाख रुपये की राहत राशि दिए जाने का प्रावधान तय किया गया है. अगर कोई महिला कई अपराधों के तहत पीड़ित है तो वह मुआवजे की पूरी राशि के लिए हकदार होगी. अगर गैंगरेप की पीड़िता की मौत हो जाती है तो उसके परिवार को 10 लाख रुपये की राशि दी जाएगी.

खानदानी सलीक़ेदार परिवार में शादी करने के इच्छुक हैं तो पहले फ़ोटो देखें फिर अपनी पसंद के लड़के/लड़की को रिश्ता भेजें (उर्दू मॅट्रिमोनी - फ्री ) क्लिक करें