8 th text book

इन दिनों तमिलनाडू की आठवीं कक्षा की किबातों में लड़कियों के लिए ऐसी बात लिखी गयी है. जिससे आप शायद आपको येघ यकीन ना आये की यह स्कूल ली किताब है या फिर कुछ और. दरअसल चेन्नई में आठवीं की किताब में लिखा गया है कि “जब आप ऑटो, बस या फिर ट्रेन से स्कूल जा रहे हों तो लड़कों से दूरी बनाकर रखें,” “ध्यान रखें आप किस तरह बैठते हैं” और “भड़काऊ कपड़े ना पहनें.”

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, आठवीं क्लास की विज्ञान की किताब में दिए गए लेसन हैं. तमिलनाडु सरकार के समाचीर काल्वी (संतुलित शिक्षण) व्यवस्था के तहत पब्लिश विज्ञान की किताब में बाल यौन उत्पीड़न से बचाव के लिए ऐसा कदम उठाया गया है.

आपको बता दें कि, सेक्स एजुकेशन को शिक्षा व्यवस्था में लानी की कोशिश में सरकार 12 साल से एक टेक्स्टबुक छाप रही है, जिसमें छात्राओं को लड़कों से दूर रहने और भड़काऊ कपड़े ना पहनने की सलाह देती है. यौन उत्पीड़न से बचाव के लिए छात्रों को ढंग से रहने और लोगों से मिलने की सीख दी जा रही है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, उन्नाव और कठुआ गैंगरेप मामलों पर हुए विरोध के बीच इस टेक्स्टबुक की तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है. इसके बाद कई यूजर्स ने इसपर नाराज़गी भी ज़ाहिर की है. इस समाचीर काल्वी व्यवस्था पर विशेषज्ञ पहले ही ऐतराज जता चुके हैं क्योंकि उनका मानना है कि इस तरह की शिक्षा लड़के-लड़कियों में बातचीत को प्रोत्साहित करने के बजाय वैचारिक दूरी बढ़ा रही है.

वहीँ इस पूरे मामले पर NCERT का कहना है कि किताब को 12 साल पहले मंजूरी मिली थी. इसके अलावा इस चैप्टर को रिवाइज करने की बात भी कही जा रही है.  सरकार का कहना है कि अब बेहतर सेक्स एजुकेशन को क्लास 6 से ही शामिल किया जाएगा. ताकि इस तरह भविष्य में इस तरह के मामलों को कम किया जा सके.

Loading...