tipu sultan

कर्नाटक विधानसभा चुनाव के लिए सभी दलों की तैयारियां ज़ोरों-शोरों पर है. हाल ही में कर्नाटक में विधानसभा चुनाव शुरू होने वाले है. मठ का दौरा करने के बाद भारत की आजादी की लड़ाई के सबसे पहले शहीद टीपू सुल्तान के दान के बारे में जानकारी मिलने के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी कहा कि टीपू सुल्तान सांप्रदायिक सद्भाव का प्रतीक हैं.

आपको बता दें कि, विधानसभा चुनाव से पहले राज्यव्यापी मंदिर यात्रा के दौरान राहुल गांधी ने श्रृंगेरी शरदम्बा पीठा का दौरा किया. राहुल गांधी मंदिर के पारंपरिक कपड़ों में दर्शन के लिए पहुंचे थे. मंदिर दर्शन के दौरान कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के साथ केपीसीसी के प्रवक्ता के दिवाकर और मठ के अधिकारी मौजूद थे.

रिपोर्ट के मुताबिक, केपीसीसी प्रवक्ता दिवाकर ने बताया कि, राहुल गांधी ने मठ के साथ टीपू सुल्तान के जुड़ाव को लेकर सवाल पूछा. जिसके जवाब में मठ के अधिकारीयों उन्हें मठाधीश को लिखे गए टीपू के पत्र और उनके द्वारा दिए गए दान के बारे में बताया. राहुल गांधी ने इस ऐतिहासिक घटना से काफी प्रभावित हुए और उन्होंने कर्नाटक को सांप्रदायिक सद्भावना का उदाहरण बनने की वजह से प्रशंसा की.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

0989899

राहुल गांधी का टीपू को सेक्युलर बताना कांग्रेस और भाजपा के बीच जुबानी जंग को शुरू कर सकता है. अतीत में भाजपा ने सुल्तान को सांप्रदायिक करार देते हुए उनके जयंती समारोह का विरोध किया था. अपनी मंदिर यात्रा के दौरान राहुल ने मठ के अंदर पत्रकारों से बातचीत नहीं की लेकिन सुरक्षा का घेरा तोड़कर स्थानीय लोगों से बातचीत की.

कर्नाटक में टीपू सुल्तान का मुस्लिम के साथ हिन्दू समुदाय में भी सम्मान है. हालांकि पिछले कुछ सालों में भाजपा ने टीपू सुल्तान पर हिन्दुओं के ऊपर अत्याचार करने वाला शासक बता कर अभियान चलाया है.

मोदी सरकार के केन्द्रीय कौशल विकास राज्यमंत्री और विवादित एंव सांप्रदायिक बयानबाजी के लिये मशहूर अनंत कुमार हेगड़े ने टीपु सुल्तान के लिये अमर्यादित भाषा का इस्तेमाल करते हुए उनकी तुलना आतंकी अजमल कसाब से की थी. जिसके बाद उन्हें फिल्म अभिनेता प्रकाश राज ने खरी खोटी सुनाई थी.