7906765

भारतीय सेना की इंटेलीजेंस यूनिट के साथ मिलकर हुए ऑपरेशन में पंजाब खुफिया यूनिट ने आईएसआई के इशारे पर चल रहे जासूसी गिरोह का पर्दाफाश किया है. इस मामले में पंजाब के मोगा जिले के धलेके गांव में रहने वाले रवि कुमार को गिरफ्तार किया गया है. वह कथित तौर पर पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी के लिए जासूसी कर रहा था.

मिल रही जानकारी के मुताबिक, इस जासूस के पास से सेना के महत्त्वपूर्ण प्रतिष्ठानों और सेना के वाहनों की आवाजाही की फोटो, प्रतिबंधित क्षेत्रों के हाथ से बने हुए नक्शे, सेना के ट्रेनिंग मैनुअल्स की प्रतिबंधित फोटोकॉपी मिली है. आपको बता दें कि, सेना के इंटेलीजेंस के इनपुट के आधार पर इंस्पेक्टर गुरिंदर पाल की अगुवाई में एक टीम ने अमृतसर के चट्टिविंद पुलिस स्टेशन के पास जासूस को गिरफ्तार किया.

कोहराम न्यूज़ को मिली जानकारी के मुताबिक, बृहस्पतिवार को ऑफीशियल सीक्रेट एक्ट की धारा 3,4,5 और 9 के तहत व आईपीसी की धारा 120- बी के तहत उसके ऊपर एफआईआर दर्ज किया गया है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इस ख़ुफ़िया जासूस को आईएसआई के एक अधिकारी ने फेसबुक के माध्यम से सात महीने पहले भर्ती किया था. वह सेना की गतिविधियों, भारतीय क्षेत्र में बॉर्डर पर नए बनाए जाने वाले बंकरों के साथ-साथ कई ख़ुफ़िया जानकारी पाकिस्तानी अधिकारियों को देता था.


रिपोर्ट के मुताबिक, रवि कुमार मोबाइल फोन और इंटरनेट के माध्यम से पाकिस्तान खुफिया अधिकारियों के साथ नियमित रूप से संपर्क में था और दुबई के रास्ते से उसे पैसा ट्रांसफर किया जाता था.