संयुक्त राष्ट्र में भारत ने चीन के खिलाफ बड़ी कामयाबी हासिल की है। भारत को आर्थिक और सामाजिक परिषद (ECOSOC) की संस्था यूनाइटेड नेशन के कमीशन ऑन स्टेटस ऑफ वूमेन के सदस्य के रूप में चुना गया है।

संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी प्रतिनिधि टीएस तिरुमूर्ति ने जानकारी देते हुए कहा कि इस संस्था का सदस्य बनने के लिए भारत, अफगानिस्तान और चीन तीन देश रेस में थे। भारत चार साल के लिए संयुक्त राष्ट्र का महिलाओं की स्थिति पर आयोग (Commission on Status of Women) का सदस्य रहेगा।

तिरुमूर्ति ने कहा कि ECOSOC का सदस्य चुना जाना हमारे सभी प्रयासों में लैंगिक समानता और महिला सशक्तीकरण को बढ़ावा देने के लिए हमारी प्रतिबद्धता का एक महत्वपूर्ण समर्थन है। उन्होंने कहा कि भारत को सदस्य चुनने के लिए हम सदस्य देशों को उनके समर्थन के लिए धन्यवाद देते हैं।

आयोग में इस सीट को पाने के लिए भारत, चीन और अफगानिस्तान के बीच मुकाबला था। भारत और अफगानिस्तान को 54 में से अधिकतर सदस्यों का साथ मिला, जबकि चीन आधे सदस्यों का भी समर्थन हासिल नहीं हो सका। बीजिंग वर्ल्ड कॉन्फ्रेंस ऑन वूमेन (1995) की इस साल 25वीं सालगिरह है।

इस जीत के साथ ही भारत अब चार साल के लिए इस आयोग का सदस्य रहेगा। साल 2021 से लेकर 2025 तक भारत यूनाइटेड नेशन के कमीशन ऑन स्टेटस ऑफ वूमेन का सदस्य रहेगा।

विज्ञापन