Wednesday, January 19, 2022

‘भारत एक हिंदू राष्ट्र, इसे छोड़कर सब बदल सकता है: मोहन भागवत

- Advertisement -

मंगलवार को आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने कहा है कि भारत एक हिंदू राष्ट्र है. भागवत ने कहा कि “हम सब कुछ बदल सकते हैं. सभी विचारधाराएं बदली जा सकती हैं, लेकिन सिर्फ एक चीज नहीं बदली जा सकती, वह यह कि भारत एक हिंदू राष्ट्र है.”

‘द आरएसएस: रोडमैप्स फॉर 21 सेंचुरी’ किताब को लॉन्च करते हुए उन्होने कहा कि यह किताब समाज को संघ दिखाएगी और संघ में चर्चा का विषय भी होगी. उन्होंने कहा, ‘संघ पुस्तक से बंधा नहीं है लेकिन पुस्तकें दिशा तो दिखाती हैं, पुस्तक पढ़िए.’

मोहन भागवत ने कहा, ‘जो सब लोगों को जोड़कर रख सकता है. जो कहे हम हिंदू नहीं हैं, आप जो भी हैं, हमारे हैं, ये मानकर कि पूरा समाज समृद्ध बने, ये संघ है.’ उन्होंने कहा, ‘विचारों की सवंतरता संघ में मान्य है. यहां अनेक मत होने के बाद भी मनभेद नहीं होता है.’

इसके अलावा उन्होंने कहा, ‘भारत हिंदू राष्ट्र है. ये सत्य है. इसे कोई नहीं बदल सकता. न हमने बनाया, ये तो सदा से चलता आया है. जब तक यहां एक हिंदू भी है ये हिंदू राष्ट्र है. ये सत्य है. बाकी सब काल खंड और परिस्थिति के हिसाब से बदल सकता है.’

उन्होंने कहा कि ऐसा जरूरी नहीं है कि आरएसएस से जुड़े प्रत्येक व्यक्ति का किसी खास मुद्दे पर संघ के समान ही विचार हो. समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक मोहन भागवत ने यहां तक कहा कि बीजेपी के साथ मतभेद होना आम बात है. लेकिन आरएसएस बहस में नहीं, बल्कि सहमति तक पहुंचने में विश्वास करता है.

- Advertisement -

[wptelegram-join-channel]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles