r596565605

इंदौर जिला अदालत ने आज एक बड़ा फैसला लिया है. जिससे रेप पीड़ितों को इन्साफ की लहर दिखाई देने लगी है. इंदौर में चार महीने की मासूम से रेप करने के बाद उसकी हत्या करने वाले दरिन्दे को सज़ा-ए-मौत दी गयी है. आपको बता दें कि यह समाज को शर्मसार करने वाली वारदात 19 अप्रैल को इंदौर के राजवाड़ा में की गयी थी. इस मामले में बच्ची के रिश्तेदार ने ही उसके साथ हैवानियत को अंजाम देकर मासूम के साथ रेप किया था. बाद में बच्ची को जमीन पर पटक-पटककर उसे मौत के घाट उतार दिया था.

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, यह एक ऐसी वारदात थी जिसने हर किसी को झकझोर कर रख दिया था, क्योंकि यह वारदात अब तक की सबसे कम उमर की बच्ची के साथ की गयी थी. इस घटना के बाद बार एसोसिएशन ने फैसला किया कि वह कोर्ट में किसी भी रेप के आरोपी की पैरवी नहीं करेगी. आपको बता दें कि, हैवानियत की हदें पार करने वाले दरिन्दे ने करीब 15 मिनट तक बच्ची के साथ रेप किया था. फिर मासूम को जमीन पर पटक कर मार दिया था.

आपको बता दें कि, आरोपी बच्ची की मां का मौसा है. मीडिया सूत्रों के मुताबिक, आरोपी ने परिवार से बदला लेने के लिए बच्ची के साथ दुष्कर्म किया. दरअसल, आरोपी ने शर्मनाक हरकत करने से पहले बच्ची की मां से हाथापाई की थी. मौके पर पहुंची पुलिस ने उसे वहां से डंडे मारकर भगा दिया था.

आपको बता दें कि यह मामला इतना ज्यादा संगईं था की पुलिसकर्मियों ने जब शव को देखा था वह अपने आंसू नहीं रोक पा रहे थे. आलम यह था की जो भी बच्ची के साथ हुई हैवानियत के बारे में जान रहा है वह अपने आंसू नहीं रोक पा रहा था.

वहीँ मां ने उस वक़्त बयान में कहा था कि जब वह रात 3 बजे उठी तो बच्ची उसके पति और उसके बीच में ही सो रही थी, लेकिन जब वह 5.30 बजे उठी तो बच्ची वहां से गायब थी. इसके बाद घर में तनाव का माहौल बन गया और परिजन पुलिस में रिपोर्ट लिखवाने के लिए पहुंच गए. हालाँकि परिवार को इस वारदात का दुःख तो ताउम्र रहेगा लेकिन बच्ची से दरिंदगी करने वाले हैवान को मौत की सज़ा के बाद परिवार को इन्साफ की लहर नज़र आई है.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?