अटारी | रविवार को पंजाब में देश का सबसे ऊँचा तिरंगा फहराया गया. इससे पहले झारखण्ड में देश का सबसे ऊँचा तिरंगा झंडा फहराया गया था लेकिन पंजाब ने वो रिकॉर्ड तोड़ दिया. हालाँकि पाकिस्तान ने इस पर अपनी आपत्ति जताते हुए इसे अन्तराष्ट्रीय सीमा संधियों का उलंघन बताया. पाकिस्तान को शक है की भारत इसके जरिये उनकी जासूसी करा सकता है.

रविवार को पाकिस्तान से महज कुछ दूरी पर स्थित भारत-पाक अटारी बॉर्डर पर 360 फुट ऊँचे तिरंगे झंडे को फहराया गया. जिस जगह तिरंगे झंडे को फहराया गया उस फ्लैगमास्ट का उद्घाटन पंजाब के मंत्री अनिल जोशी ने किया. इस फ्लैगमास्ट को बनाने में करीब साढ़े तीन करोड़ रूपए का खर्चा आया है. यह परियोजना पंजाब सरकार के अमृतसर सुधार न्यास प्राधिकरण द्वारा पूरी की गयी.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

जिस झंडे को अटारी बॉर्डर पर फहराया गया वो 120 फीट लम्बा और 80 फीट लम्बा है. यह देश का सबसे ऊँचा झंडा है. इससे पहले झारखण्ड में 293 फीट ऊँचा झंडा फहराया गया था. हालांकि पाकिस्तान ने इस पर अपनी नाराजगी जाहिर करते हुए भारत के सीमा सुरक्षा बल के पास अपनी आपत्ति दर्ज की. पाकिस्तान का मानना है की बॉर्डर के पास ऊँचा तिरंगा फहराकर भारत उनकी जासूसी कर सकता है.

पाकिस्तान के रेंजर्स ने अपनी आपत्ति में कहा की यह अन्तराष्ट्रीय संधियों के खिलाफ है. इसलिए भारत को बॉर्डर से दूर तिरंगे को फहराना चाहिए. हालाँकि भारत ने पाकिस्तान की आपत्तियों को नजरअंदाज करते हुए कहा की हमने किसी भी अन्तराष्ट्रीय संधि का उलंघन नही किए. फ्लैगमास्ट जीरो लाइन से पहले 200 मीटर पर स्थापित किया गया है. उधर मंत्री अनिल जोशी ने कहा की हमें अपनी धरती पर तिरंगा झंडा फहराने से कोई नही रोक सकता.

Loading...