44567768

हाल ही में फेसबुक को तगड़ा नुक्सान हुआ है और यह कोई मामूली नहीं बल्कि पूरे 35 अरब डॉलर का है. अब बीजेपी ने जिस विवादित डेटा फर्म से कनेक्शन को लेकर कांग्रेस पर आरोप लगाया था, अब बीजेपी की चाल उलटी पड़ती नज़र आ रही है. कांग्रेस ने बीजेपी को करारा जवाब देते हुए दावा किया है कि, ब्रिटिश एजेंसी कैम्ब्रिज एनालिटिका के संबंध  कांग्रेस नहीं बल्कि बीजेपी है.

रिपोर्ट्स के मुताबिक, कांग्रेस के प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने एजेंसी की वेबसाइट से मिली जानकारियों के आधार पर दावा किया कि 2010 के बिहार चुनाव में बीजेपी ने इस एजेंसी की सेवाओं का लाभ उठाया था. उस वक़्त बीजेपी का जेडीयू के साथ गठबंधन में था. आपको बता दें कि, कुछ घंटे पहले केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके कांग्रेस पार्टी के इस एजेंसी से संबंध का दावा किया था.

केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि कांग्रेस पार्टी ने 2019 के चुनाव प्रचार के लिए ब्रिटिश एजेंसी कैम्ब्रिज एनालिटिका को जिम्मेदारी सौंपी है, उस पर घूस लेने, सेक्स वर्कर्स के जरिए राजनेताओं को फंसाने और फेसबुक से डेटा चुराने जैसे गंभीर आरोप लगे हैं. अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने भी चुनाव प्रचार के दौरान इसी एजेंसी की सेवाएं ली थीं. अब बात से यह साफ़ ज़ाहिर होता है किफर्म के संबंध किस पार्टी के साथ है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

वहीँ कांग्रेस के प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि बीजेपी की फेक न्यूज की फैक्टरी ने आज एक और फर्जी खबर तैयार की है. उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि,’ऐसा लगता है कि फेक स्टेटमेंट्स, फेक प्रेस कॉन्फ्रेंस और फेक अजेंडा बीजेपी और उनके ‘लॉलेस’ लॉ मिनिस्टर रविशंकर प्रसाद का चरित्र बन गया है.’आपको बता दें कि, जिस कंपनी पर विवाद चल रहा है उस पर फेसबुक के करीब 5 करोड़ यूजर्स की जानकारियां लीक होने से फायदा पहुंचने के आरोप लगे हैं.

वौइस् हिंदी को मिली जानकारी के मुताबिक, सुरजेवाला ने कहा कि कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष ने कभी भी कैम्ब्रिज एनालिटिका कंपनी की सेवाएं नहीं ली हैं. सुरजेवाला ने कहा कि यह एक फेक अजेंडा है और केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने सरासर सफ़ेद झूठ बोला है.

Loading...