Thursday, August 5, 2021

 

 

 

कोरोना संकट के बीच बड़ी मुसीबत – अम्फान तूफान ने मचाई तबाही, बंगाल-ओडिशा के लिए अलर्ट जारी

- Advertisement -
- Advertisement -

भारतीय मौसम विभाग (IMD) के अनुसार बंगाल की खाड़ी में उठे चक्रवाती तूफान ‘एम्फन’ ने  ‘अत्यंत भीषण चक्रवाती तूफान’ (Extremely Severe Cyclonic Storm) का रूप ले लिया है। मौसम विभाग ने पश्चिम बंगाल और ओडिशा के लिए अलर्ट जारी किया है।

मौसम विभाग ने कहा कि इस तूफान के मद्देनजर अगले कुछ घंटे बेहद अहम हैं। गृह मंत्रालय ने चक्रवाती तूफान ‘एम्फन’ के सोमवार शाम तक सुपर साइक्लोन में तब्दील होने की जानकारी देते हुए कहा है कि पश्चिम बंगाल और बांग्लादेश के तटों से यह तूफान बुधवार को टकराएगा। इस दौरान  हवा की गति 185 किमी प्रति घंटे तक हो सकती है।

चक्रवाती तूफान ‘एम्फन’ के मद्देनजर मौसम विभाग (IMD) ने ओडिशा, पश्चिम बंगाल, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल और सिक्किम, असम और मेघालय के लिए 21 मई तक भारी वर्षा की चेतावनी जारी की है। भुवनेश्वर मौसम विज्ञान केंद्र के डायरेक्टर एचआर बिस्वास ने कहा कि बंगाल की खाड़ी में उठा तूफान अगले 12 घंटों में और तेज होने की संभावना है। तेज हवाओं के साथ भारी बारिश होने की आशंका भी है।

मौसम विभाग ने बताया कि इस साइक्लोन की वजह से ज्यादातर तटीय इलाकों में बारिश की संभावना है। फिलहाल इस चक्रवाती तूफ़ान के मद्देनजर विशाखापट्टनम में भारतीय नौसेना के जहाज अलर्ट मोड में हैं। जहाजों में अतिरिक्त गोताखोर, डॉक्टर और राहत सामग्री के साथ खाने के सामान, तम्बू, कपड़े, दवाएं, कंबल आदि पर्याप्त मात्रा में शामिल हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के विभिन्न हिस्सों में चक्रवाती तूफान Amphan से उत्पन्न स्थिति की समीक्षा करने के लिए गृह मंत्रालय (MHA) और राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (NDMA) के अधिकारियों के साथ बैठक की। गृह मंत्री अमित शाह भी बैठक में मौजूद रहे।

कटक मौसम विभाग के डायरेक्टर ने बताया कि अगले 6 घंटे अम्फान गंभीर चक्रवातीय तूफान में बदल जाएगा। हमने गजपति, पुरी, गंजम, जगतसिंहपुर, केंद्रपाड़ा आदि इलाकों में भारी बारिश की चेतावनी ही हैं। बालासोर, भद्रक, जाजापुर, मयूरभंज, खुर्जा और कटक में बारिश में बढ़ेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles