हाल ही में डोकलाम विवाद को लेकर आरएसएस की और से देश के नागरिकों से चीनी सामान का बहिष्कार करने की अपील की गई थी. हालांकि आरएसएस की ये मुहीम कारगर साबित नहीं हुई. इसके विपरीत भारत और चीन के बीच व्यापार में जबरदस्त बढोतरी देखने को मिली.

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, डोकलाम विवाद के बाद पिछले साल की तुलना में चीन से आयात में 33 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है. आयात किये गए सामान में इलेक्ट्रॉनिक सामान, इंजीनियरिंग गुड्स और केमिकल्स  प्रमुख हैं.

आर्थिक मामलों की संस्था क्रिसिल के मुख्य अर्थशास्त्री डीके जोशी ने हिन्दुस्तान टाइम्स से कहा कि दोनों देशों के बीच जारी सीमा विवाद का असर दोनों देशों के आपसी कारोबार पर नहीं पड़ेगा.

गौरतलब रहें कि आरएसएस के प्रमुख नेता इन्द्रेश कुमार ने चीन से मुकाबले के लिए देशवासियों से चीनी सामान का बहिष्कार करने की अपील की थी.

उन्होंने कहा, “चीनी वस्तुओं के भारतीय बाजार में आने से कई भारतीयों का रोजगार छिना है.  लोगों को दिवाली, राखी, ईद जैसे त्योहारों पर चीनी वस्तुओं का बहिष्कार करना चाहिए.

 

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?