communal

communal

संसद में मंगलवार को पेश की गई गृह मंत्रालय की रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि बीजेपी शासित राज्यों में सांप्रदायिक वारदातों में फिर से बढ़ोतरी देखने को मिली है.

रिपोर्ट के अनुसार, योगी सरकार वाले उत्तर प्रदेश में साल 2017 में सांप्रदायिक हिंसा की 195 वारदातें दर्ज की गईं, जबकि इसके पिछले साल यहां 101 ऐसी घटनाएं सामने आई थीं. 2017 में हुई इन हिंसा के मामलों में 44 लोग मारे गए और 542 अन्य घायल हुए.

वहीँ वसुंधरा सरकार वाले राजस्थान में साल 2017 में सांप्रदायिक हिंसा की 91 घटनाएं हुई. जबकि साल 2016 में यहाँ केवल 63 घटनाएं हुई थी. 2017 में हुई इन हिंसा के मामलों में 12 लोग मारे गए और 175 घायल हो हुए.

इसके अलावा बिहार में 2016 में दर्ज 65 के मुकाबले बीते साल 85 मामले सामने आये. जिसमें तीन लोग मारे गए और 321 घायल हुए. जबकि मध्य प्रदेश में 57 मामलों की तुलना में पिछले साल 60 केस सामने आए हैं. इन दंगों में 9 लोग मारे गए और 191 घायल हुए.

केंद्रीय गृह राज्य मंत्री हंसराज अहिर के अनुसार 2016 में सांप्रदायिक हिंसा की 703 घटनाओं में 86 लोगों की मौत हो गई और 2,321 अन्य घायल हो गए. जबकि 2015 में दंगों की 751 घटनाओं के कारण 97 मौतें हुईं थी और 2,264 लोग घायल हुए थे.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?