Friday, June 18, 2021

 

 

 

जम्मू में पुलिस की मौजूदगी में गौरक्षकों ने दो मुस्लिम परिवारों पर किया हमला

- Advertisement -
- Advertisement -

मंगलवार-बुधवार की रात जम्मू के सांबा जिले के पलक मनाना गांव में कथित गौरक्षकों के एक गिरोह ने बकरवाल समुदायके दो परिवारों पर हमला किया, जिसमें बच्चों और महिलाओं सहित सात लोग घायल हो गए। द क्लेरियन इंडिया ने अपनी रिपोर्ट में ये जानकारी दी।

रिपोर्ट के अनुसार, आधी रात को जब दोनों परिवार अपने मवेशियों के साथ एक ट्रक में कश्मीर घाटी के लिए अपने गांव छोड़ने के लिए तैयार थे, तो गिरोह ने उन्हें रोक लिया और हमला शुरू कर दिया। सात बच्चों सहित खानाबदोश बकरवाल परिवारों के सोलह सदस्य गर्मियों में अपनी वार्षिक यात्रा के हिस्से के रूप में कश्मीर जा रहे थे।

दोनों ट्रकों में करीब 100-150 बकरियां और 14 गायें थीं। हमला रात करीब 11 बजे हुआ। सनी के नेतृत्व वाला गिरोह गौरक्षक दल ही था, जिनका आदिवासी खानाबदोशों को परेशान करने और उन पर हमला करने का इतिहास रहा है।

पीड़ितों में से एक रफाकत ने द वायर को बताया कि सांबा पुलिस स्टेशन के पास चौकी पर जब ट्रक रुका तो हमलावरों ने ट्रक के चालक को खींच कर बुरी तरह पीटा। रफाकत ने कहा, हमलावरों ने एक ट्रक की विंडशील्ड को भी तोड़ दिया, जिससे एक बच्चे की आंख में चोट लग गई।

पीड़ित ने बताया, पुलिस मुकदर्शक बन कर देखती रही। उन्होने कहा, “गिरोह का नेतृत्व सनी और सुरजीत ने किया था जो सांबा से हैं। उन्होंने हम पर हमला किया, भले ही हमें अपने पशुओं को कश्मीर ले जाने के लिए जिला प्रशासन से उचित अनुमति मिल गई थी।”

परिवार के अनुसार, हमला लगभग दो घंटे तक जारी रहा जब तक कि सेना का काफिला नहीं गुजरा, जिससे हमलावर इलाके से भाग गए। घायलों को रास्ते में किसी फार्मेसी से प्राथमिक उपचार के अलावा कोई चिकित्सा सुविधा नहीं मिली। परिवार डरे हुए हैं और “जितनी जल्दी हो सके कश्मीर पहुंचना चाहते हैं”।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles