मुंबई | उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में बीजेपी की प्रचंड जीत के बाद ईवीएम् पर सवाल खड़े हो रहे है. विपक्षी दल लगातार ईवीएम् में छेड़छाड़ करने का आरोप लगा रहे है. इसी सिलसिले में आज राज्यसभा में विपक्षी दलों ने जोरदार हंगामा किया. उधर भिंड में फौल्टी ईवीएम् की विडियो वायरल होने के बाद अरविन्द केजरीवाल ने चुनाव आयोग को चुनौती देते हुए कहा की आप हमें 72 घंटे के लिए ईवीएम् दे दे, हम साबित कर देंगे की इसमें छेड़छाड़ संभव है.

अब इस मामले में एक नया मोड़ आया है. मुंबई के वकोला इलाके में 600 लोगो ने अदालत में हलफनामा दाखिल कर कहा है की उनके वोट ईवीएम् ने चोरी कर लिए. इसलिए अदालत पता लगाए की वो कहाँ गए? लोगो के हलफनामे दाखिल करने के बाद विपक्षी दलों को एक बार फिर मुद्दे को हवा देने का मौका मिल गया है. लेकिन फ़िलहाल चुनाव आयोग कुछ भी सुनने के लिए तैयार दिखाई नही दे रहा है.

दरअसल हाल ही में संपन्न हुए बीएमसी चुनावो में वार्ड नम्बर 88 से 13 उम्मीदवार मैदान में थे. इनमे नीलोत्पल मृणाल भी शामिल थे. नीलोत्पल ने निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर पर्चा भरा था. उन्हें चुनाव में केवल 375 वोट मिली. यह देखकर वकोला इलाके के लोग हैरान रह गए. इस इलाके के लोगो का कहना है की उन्होंने नीलोत्पल को वोट दिया था लेकिन परिणाम आने पर उनके वोट नीलोत्पल को नहीं मिले.

इसलिए यहाँ के करीब 600 लोगो ने हलफ़नाम देकर बताया की उन्होंने नीलोत्पल को वोट किया था. यही नही लोगो ने हलफनामे के साथ अपनी वोटर आईडी की फोटो कॉपी और उस पर , नाम, पता, मोबाइल नंबर लिखकर हाईकोर्ट में अर्जी दी है. अर्जी में उन्होंने मांग की है की अदालत यह पता लगाए की उनके वोट कहाँ गए. इसके बाद नीलोत्पल ने बीएमसी से वार्डनुसार वोट के बारे में जानकारी ली.

जानकारी में नीलोत्पल ने पाया की जिस वार्ड में मुझे केवल 5-6 वोट मिली है वहां काफी ज्यादा संख्या में लोगो ने हलफनामा दिया है. इसलिए हमने इलाके के लोगो के साथ बैठक कर फैसला किया की कुछ करना है और हमने हाई कोर्ट में याचिका दाखिल कर दी. याचिकाकर्ताओं के वकील श्रवण गिरी ने कहा की काफी याचिकाए दाखिल की गयी है और बहुत जल्द अदालत इस पर सुनवाई भी करेगी.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?