Wednesday, June 23, 2021

 

 

 

प्रणब मुखर्जी ने अपनी किताब किया दावा – 2014 में कांग्रेस की हार के लिए सोनिया-मनमोहन थे जिम्मेदार

- Advertisement -
- Advertisement -

पूर्व राष्ट्रपति दिवंगत प्रणब मुखर्जी ने अपने संस्मरण में 2014 में कांग्रेस की हार के लिए सोनिया गांधी और मनमोहन सिंह को जिम्मेदार ठहराया था। उन्होने लिखा “कांग्रेस के कुछ सदस्य” मानते थे अगर वह प्रधानमंत्री होते, तो पार्टी सत्ता नहीं गंवाती।

बता दें कि मुखर्जी अपने निधन से पहले संस्मरण ‘द प्रेसिडेंशियल ईयर्स’ को लिख चुके थे। रूपा प्रकाशन द्वारा प्रकाशित यह पुस्तक जनवरी, 2021 से पाठकों के लिए उपलब्ध होगी। कोरोना वायरस संक्रमण के बाद हुई स्वास्थ्य संबंधी जटिलताओं के करण गत 31 जुलाई को 84 वर्ष की उम्र में निधन हो गया था।

उन्होने लिखा, “कांग्रेस के कुछ सदस्यों ने अनुमान लगाया था कि अगर मैं 2004 में पीएम बन गया होता तो हो सकता है कि पार्टी ने 2014 के लोकसभा चुनाव में हार टल जाती। हालंकि मैं इस विचार में को स्वीकार नहीं करता, लेकिन मेरा भी ऐसा मानना है कि राष्ट्रपति के रूप में मेरे उत्थान के बाद पार्टी के नेतृत्व ने राजनीतिक ध्यान खो दिया। जबकि सोनिया गांधी पार्टी के मामलों को संभालने में असमर्थ थीं, और डॉ (मनमोहन) सिंह की लंबे समय तक अनुपस्थिति ने अन्य सांसदों के साथ किसी भी व्यक्तिगत संपर्क को समाप्त कर दिया।”

पूर्व राष्ट्रपति ने लिखा, मेरा मानना है कि शासन करने का नैतिक अधिकार प्रधानमंत्री के साथ निहित होता है। देश की संपूर्ण शासन व्यवस्था प्रधानमंत्री और उनके प्रशासन के कामकाज का प्रतिबिंब होती है। डॉक्टर सिंह गठबंधन को बचाने में ध्यानमग्न रहे जिसका शासन पर असर हुआ, जबकि नरेंद्र मोदी अपने पहले कार्यकाल में शासन की अधिनायकवादी शैली को अपनाए हुए प्रतीत हुए जो सरकार, विधायिका और न्यायपालिका के बीच तल्ख रिश्तों के जरिए दिखाई दी।

बता दें कि 2004 में सोनिया गांधी के प्रधानमंत्री बनने से इनकार करने के बाद प्रणब मुखर्जी को व्यापक रूप से इस पद के लिए खुद के चुने जाने की उम्मीद थी लेकिन सोनिया गांधी ने मनमोहन सिंह को चुना।  2017 में  डॉ मुखर्जी की किताब की पिछली किस्त के लॉन्च के समय, मनमोहन सिंह ने कहा था कि जब मैं प्रधानमंत्री बना तो वह अच्छी तरह से परेशान थे। सिंह ने कहा: “उनके (प्रणब मुखर्जी) पास परेशान होने का एक कारण था लेकिन उन्होंने मेरा सम्मान किया और हमारे बीच एक महान रिश्ता है जो हमारे रहने तक जारी रहेगा।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles