वर्ल्ड बैंक के बाद अब आईएमएफ ने भी दिया झटका – विकास दर में की 1.2 फीसद कटौती

11:36 am Published by:-Hindi News

वर्ल्ड बैंक के बाद अब अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) ने भी साल 2019 में भारत की आर्थिक विकास दर को लेकर अपने अनुमान में 1.2 फीसद की ब़़डी कटौती की है।आईएमएफ ने अनुमान लगाया है कि इस साल भारत की जीडीपी (सकल घरेलू उत्पाद) वृद्धि दर 6.1 फीसद रहेगी।

इससे पहले 2019 में आईएमएफ ने देश की वृद्धि दर 7.3 प्रतिशत रहने का अनुमान जताया था। इसी के साथ आईएमएफ ने 2019 के लिए वैश्विक आर्थिक वृद्धि दर का अनुमान भी घटाकर तीन प्रतिशत कर दिया है। आईएमएफ ने अपनी नवीनतम विश्व आर्थिक परिदृश्य रिपोर्ट में भारत की आर्थिक वृद्धि दर 2019 में 6.1 प्रतिशत रहने का अनुमान जताया है।

वहीं रविवार को व‌र्ल्ड बैंक ने भारत की आर्थिक वृद्धि दर का अनुमान घटाकर 6 फीसद कर दिया था। व‌र्ल्ड बैंक ने कहा है कि महंगाई दर कम है और यदि मौद्रिक नीति का रुख नरम बना रहा तो वृद्धि दर धीरे-धीरे सुधर कर 2021 में 6.9 फीसद और 2022 में 7.2 फीसद हो जाने का अनुमान है।

आईएमएफ के मुताबिक यह घरेलू मांग के उम्मीद से ज्यादा कमजोर रहने को प्रतिबिंबित करता है। आईएमएफ ने कहा, ‘मौद्रिक नीति में नरम रुख अपनाने, कॉरपोरेट कर घटाने, कॉरपोरेट और पर्यावरण से जुड़ी नियामकीय अनिश्चिताओं को दूर करने के हालिया कदम और ग्रामीण मांग बढ़ाने के सरकारी कार्यक्रमों से वृद्धि को समर्थन मिलेगा। इसका असर कुछ समय बाद परिलक्षित होगा।’

आईएमएफ की मुख्य अर्थशास्त्री भारतीय-अमेरिकी गीता गोपीनाथ ने कहा कि अनुमान में यह गिरावट 2017 में वैश्विक आर्थिक वृद्धि दर 3.8 फीसद रहने के मुकाबले अधिक गंभीर है। उन्होंने कहा कि विभिन्न वजहों से एक साथ आने से आयी नरमी और इसमें सुधार की अनिश्चितता के साथ वैश्विक परिदृश्य भी अनिश्चित बना हुआ है।

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें