नई दिल्ली | नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ़ इंडिया (NHAI) के अंतर्गत आने वाले सभी टोल प्लाजा पर रोजाना वाहनों की लम्बी लम्बी लाइने लगती है. जहाँ कुछ लोग ख़राब सडको की वजह से अपने गंतव्य पर देरी से पहुँचते है तो वही अच्छी सड़के टोल प्लाजा की वजह से देरी के लिए जिम्मेदार होती है. ऐसे में अच्छी और ख़राब सडको में फर्क ही क्या रहा जाता है. टोल की वजह से अच्छी सड़के बनाने का उद्देश्य ही खत्म हो जाता है.

अब टोल प्लाजा पर काफी देर खड़े रहने वाले वाहनों के लिए एक अच्छी खबर है. दरअसल अगर किसी वाहन को टोल पर तीन मिनट से ज्यादा इन्तजार करना पड़े तो उसको मुफ्त में वहां से निकल जाने की सुविधा दी जाएगी. हालाँकि यह नियम पहले भी मौजूद था लेकिन इसकी जानकारी नही होने की वजह से लोग चुपचाप टोल पर इतजार करते रहते थे.

एनडीटीवी के अनुसार वकील हरिओम जिंदल की आरटीआई से यह खुलासा हुआ है की किसी भी वाहन को तीन मिनट से ज्यादा टोल पर खड़े रहने के बाद टोल राशी से छुटकारा मिल जाता है. दरअसल हरिओम जिंदल कई बार लुधियाना से दिल्ली और चंडीगढ़ से अम्बाला के बीच लगे टोल पर काफी देर तक लम्बी लम्बी वाहनों की कतारों में खड़े रहे. इस दौरान उन्होंने NHAI से यह पूछने का फैसला किया की ऐसे वाहन चालको के लिए वह क्या छूट दे रहा है?

हरिओम की आरटीआई के जवाब में एनचएआई ने बताया की अगर कोई वाहन टोल बूथ पर 2 मिनट 50 सैकंड से ज्यादा इन्तजार में खड़ा रहता है तो नियम के अनुसार वह बिना टोल चुकाए वहां से जा सकता है. हालाँकि NHAI ने कहा की इन्तजार करने की समय सीमा 3 मिनट है. जिंदल ने आरटीआई में पूछा कि क्या ये समय अलग-अलग काऊंटरों के लिए विभिन्न है तो जवाब मिला कि नहीं ऐसा नहीं है.

कोहराम न्यूज़ को सुचारू रूप से चलाने के लिए मदद की ज़रूरत है, डोनेशन देकर मदद करें








Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें