गुवाहटी | दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी आबादी रखने वाला भारत, जनसंख्या विस्फोट के मुहाने खड़ा हुआ है. जनसँख्या नियंत्रण के लिए कोई भी स्पष्ट निति नही होने की वजह से भारत आज इस स्थिति में खड़ा हुआ है. एक आंकड़े के मुताबित अगर यही स्थिति रही तो हम 2030 तक चीन को पीछे छोड़ दुनिया की सबसे ज्यादा आबादी वाला देश बन जायेंगे.

चीन ने अपनी जनसँख्या वृद्धि को रोकने के लिए कुछ सख्त कदम उठाये थे जिसका उसे फायदा भी मिला. लेकिन भारत में उस तरह के कोई कानून नही बनाये गए है. हालाँकि एक राज्य ने इसकी पहल करते हुए कुछ सख्त कदम उठाने के संकेत दिए है. यहाँ इसके लिए एक मसौदा तैयार किया गया है. इसके अनुसार दो से अधिक संतान वाले लोगो को सरकारी नौकरी से वंचित रखने की सिफारिश की गयी है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

असम के स्वास्थ्य मंत्री हिमंत विश्वास शर्मा ने बताया की उनकी सरकार ने एक मसौदा जनसँख्या निति की घोषणा की है. इसके अनुसार दो से अधिक बच्चे वालो को सरकारी नौकरी नही देने की सिफारिश की गयी है. यही नही सरकारी नौकरी मिलने के बाद भी , सेवाकाल पूरा होने तक उसको यह पात्रता पूरी करनी होगी. मतलब की सरकारी नौकरी लगने के बाद भी कोई शख्स तीसरी संतान पैदा नही कर पायेगा.

हिमंत ने आगे बताया की सरकारी नौकरी के अलावा भी कुछ और सिफारिशे की गयी है. मसलन सरकार की लाभ वाली योजनाओं को फायदा भी केवल उन्ही को दिया जाएगा जो यह पात्रता पूरी करेंगे. इसके अलावा राज्य निर्वाचन आयोग के अधीन होने वाले पंचायत, नगर निकाय और स्वायत्त परिषद चुनावों में भी इस मसौदे को लागु किया जाएगा. इन चुनावो में खड़े होने वाले उम्मीदवारों को यह पात्रता पूरी करनी होगी. इस तरह का मसौदा तैयार करने वाला असम पहला राज्य बन गया है.

Loading...