नई दिल्ली | फिल्म ‘पद्मावती’ के बारे में मचा बवाल अभी थमने का नाम नही ले रहा है. कुछ लोग इस मुद्दे को संप्रदायिक रंग देने की कोशिश कर रहे है. उधर बॉलीवुड भी इस मुद्दे पर बंटा हुआ दिख रहा है. कुछ लोग फिल्म के पक्ष में तो कुछ विरोध में खड़े दिखाई दे रहे है. हालाँकि जयपुर में संजय लीला भंसाली पर हुए हमले की पुरे बॉलीवुड ने निंदा की है लेकिन अनुराग कश्यप के ‘हिन्दू आतंकवाद’ शब्द का इस्तेमाल करने पर कुछ लोगो ने आपत्ति दर्ज की है.

वही इस मामले में अब राजनीती होनी भी शुरू हो गयी है. केन्द्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने इस मुद्दे को संप्रदायिक रंग देते हुए कहा की अगर हिम्मत है तो पैगम्बर मोहम्मद के ऊपर फिल्म बनाकर दिखाए. उन्होंने आरोप लगाया की चूँकि ‘पद्मावती’ हिन्दू थी इसलिए उनके किरदार के साथ छेड़छाड़ करने की जा रही है. उन्होंने आगे कहा की जिस तरह ‘पद्मावती’ के किरदार को फिल्म में दिखाया जा रहा है , इस तरह की हिम्मत कोई नही कर पता अगर वो हिन्दू न होती.

जयपुर में पत्रकारों से बात करते हुए गिरिराज सिंह ने संजय लीला भंसाली पर हुए हमले को जायज ठहराते हुए कहा की पद्मावती ने खुद को समाप्त कर लिया लेकिन किसी के आगे आत्मसमपर्ण नही किया, अगर ऐसे किरदार के ऊपर फिल्म बनाकर उसके साथ खिलवाड़ की जाती है तो ऐसे फ़िल्मकार को सजा मिलनी चाहिए. ऐसे लोगो का विरोध किया जाना सही है.

गिरिराज सिंह ने संजय लीला भंसाली पर आरोप लगाते हुए कहा की ऐसी फिल्मे केवल वो ही लोग बनाते है जो औरंगजेब और उनके जैसी शख्सियत को अपना आदर्श मानते है. हिन्दू देवी देवताओं के ऊपर कटाक्ष किया जाता है, पीके जैसी फिल्मे बनायी जाती है लेकिन क्या किसी में मोहम्मद पैगम्बर पर फिल्म बनाने की हिम्मत है? अब हम अपने नायको का अपमान बर्दास्त नही करेगने और देश की संस्कृति को गलत ढंग से पेश करने वालो को सबक सिखायेंगे.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें