Saturday, July 24, 2021

 

 

 

तबलीगी मामले में नोटिस मिलने पर बोले आईएएस मोहसिन – हर किसी को खुश को नहीं कर सकता

- Advertisement -
- Advertisement -

तबलीगी जमात के सदस्य द्वारा अन्य मरीजों के लिए प्लाज़्मा दान करने के मामले पर ट्वीट करने पर कर्नाटक सरकार ने शुक्रवार को भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) अधिकारी मोहम्मद मोहसिन को नोटिस जारी किया है।

दरअसल, उन्होंने ट्वीट में लिखा था कि केवल दिल्ली में 300 से अधिक ‘तब्लीगी हीरो’ देश की सेवा के लिए प्लाज्मा दान कर रहे हैं। लेकिन ‘गोदी मीडिया’ इन हीरो के मानवता कार्य को नहीं दिखाएगा। इस ट्वीट के लिए राज्य सरकार ने नोटिस जारी कर पांच दिन के भीतर मोहसिन से जवाब मांगा है।

इस मामले में मोहसिन का कहना है कि वह सबको खुश नहीं कर सकते और वह इसका जवाब देंगे। मीडिया से बातचीत के दौरान  मोहसिन ने कहा कि, हां मुझे सरकार की तरफ से नोटिस आया है और मैं इस नोटिस का नियम के अनुरूप जवाब दूंगा।उन्होंने कहा कि मुझे इसका अंदाजा नहीं है कि महज एक ट्वीट को लेकर इतना बवाल क्यों मचा हुआ है।

मोहम्मद मोहसिन पिछले साल उस समय चर्चा में आए थे, जब अप्रैल में ओडिशा दौरे के दौरान चुनाव पर्यवेक्षक के नाते उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हेलीकॉप्टर की जांच करने की कोशिश की थी और चुनाव आयोग ने उन्हें निलंबित कर दिया था।

वर्ष 1996 के आईएएस बैच के अधिकारी मोहसिन कर्नाटक काडर में हैं और मूल रूप से बिहार के रहने वाले हैं। मौजूदा समय में वह पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग में बतौर सचिव कार्यरत हैं। राज्य सरकार ने कहा कि उनके ट्वीट को लेकर कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है।

‘‘पीटीआई-भाषा’’को नोटिस की प्रति मिली है जिसमें सरकार ने कहा, ‘‘ इस ट्वीट को मीडिया में मिले प्रतिकूल प्रचार पर सरकार ने गंभीरता से संज्ञान लिया है। कोविड-19 गंभीर मामला है और संवेदनशीलता इसमे शामिल है।’’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles