hyderabad bomb blast 1535351391

हैदराबादके गोकुल चाट और लुंबिनी पार्क में 2007 में हुए दोहरे बम विस्फोट मामले में अदालत ने 11 साल बाद अपना फैसला सुनाया हुआ है। जिसमे दो आरोपियों को दोषी करार दिया है, जबकि दो आरोपियों को बरी कर दिया गया है। अदालत पांचवे आरोपी की सजा पर फैसला सोमवार को सुनाएगी।

अतिरिक्त मेट्रोपोलिटन सत्र न्यायाधीश टी श्रीनिवास राव ने अनीक शफीक सईद और मोहम्मद अकबर इस्माइल चौधरी को दोषी करार दिया है। अदालत ने इस मामले में फारुक शार्फुद्दीन तरकश और मोहम्मद सादिक इसरार अहमद शेख को बरी कर दिया है। इस मामले में पांचवे आरोपी तारिक अंजुम की सजा पर फैसला अदालत 10 सितंबर को करेगी।

बता दे कि इन बम धमाकों में 44 लोगों की जान चली गई थी और 68 लोग घायल हो गए थे। तेलंगाना पुलिस की काउंटर इंटेलिजेंस शाखा ने मामले की जांच की और पांच आरोपियों को गिरफ्तार किया था। ये सभी इंडियन मुजाहिदीन से जुड़े थे। इन सभी को आइपीसी की धारा 302 और विस्फोटक पदार्थ अधिनियम के तहत गिरफ्तार किया गया था।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

अभियोजन पक्ष के मुताबिक अनीक शफीक सईद ने लुंबिनी पार्क में बम रखा था जबकि गोकुल चाट पर रियाज भटकल ने बम रखा था वहीं एक और बम इस्माइल चौधरी ने रखा था। तारिक अंजुम पर विस्फोट के बाद अन्य आरोपियों को शरण देने का आरोप है।

प्रसिद्ध भोजनालय गोकुल चाट के पास हुए विस्फोट में 32 लोगों की जान चली गई थी और 47 घायल हो गए थे जबकि राज्य सचिवालय से सटे लुंबिनी पार्क के ओपन एयर थिएटर में हुए विस्फोट में 12 लोग मारे गए थे और 21 अन्य घायल हुए थे।

Loading...