राजस्थान के अलवर के बहरोड़ में कथित गौरक्षा के नाम पर की गई मुस्लिम युवक पहलू खान की हत्या के मामले में राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने संज्ञान लिया है. आयोग ने राजस्थान के मुख्य सचिव से घटना की विस्तृत रिपोर्ट और अपराधियों के खिलाफ की गई कार्रवाई के बारे में जानकारी मांगी है.

याद रहे अलवर जिले में बहरोड राजमार्ग पर 6 वाहनों में गायें ले जा रहे हरियाणा के रहने वाले करीब 15 लोगों पर कथित गौरक्षकों ने हमला कर दिया था. इस दौरान सभी की बुरी तरह से पीटाई की गई. जिसमे 50 वर्षीय पहलू खान ने’ गंभीर चोट आने के कारण इलाज के दौरान दम तोड़ दिया था.

सभी पीड़ित पशुपालन से जुड़े हुए हैं. इन लोगों के पास गाय की खरीद और उन्हें ले जाने की इजाजत के सरकारी दस्तावेज मोजूद थे. बावजूद इसके उनके साथ बेरहमी से पिटाई की गई. स्‍थानीय बहरोर पुलिस के अनुसार सभी कथित गौरक्षक विश्‍व हिंदू परिषद और बजरंग दल से जुड़े हुए हैं.

आयोग के प्रवक्ता ने बताया कि आयोग ने अलवर की घटना को मानवीय अधिकारों को उल्लघंन मानते हुए इसे गंभीर घटना माना है. आयोग ने माना है कि इस तरह की यह पहली घटना नहीं है इससे पूर्व भी इस तरह की घटना हो चुकी है. आयोग ने केन्द्रीय गृह सचिव को भी नोटिस जारी कर पूछा है कि केन्द्र द्वारा देश में घट रही इस तरह की घटना पर क्या कार्रवाई की गई है और प्रस्तावित कार्रवाई के बारे में चार सप्ताह में जवाब पेश करने को कहा गया है.

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन