Thursday, August 5, 2021

 

 

 

CAA पर बोला ब्रिटेन – उम्मीद है भारत लोगों की चिंताओं को दूर करेगा

- Advertisement -
- Advertisement -

नई दिल्ली: ब्रिटेन ने कहा कि उसे उम्मीद है कि भारत नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) को लेकर लोगों की चिंताओं को दूर करेगा। चूंकि सत्तारूढ़ पार्टी की घोषणापत्र की प्रतिबद्धता “सब का साथ, सब का विकास” है।

भारत में निवर्तमान ब्रिटिश उच्चायुक्त डॉमिनिक अक्विथ ने कहा कि जम्मू और कश्मीर की यात्रा में ब्रिटेन को “बहुत दिलचस्पी” है और इसके लिए एक स्थायी अनुरोध है। उन्होंने कहा कि ब्रिटेन को कश्मीर की यात्रा के लिए भारत से कोई अनुरोध नहीं मिला है। इस दौरान उन्होने पिछले साल लंदन में भारतीय मिशन के परिसर में हिंसक विरोध प्रदर्शन पर “खेद” व्यक्त किया।

नागरिकता संशोधन अधिनियम पर विरोध के बारे में पूछे जाने पर, अस्क्विथ ने कहा, “हमने नोट किया है कि मोदी सरकार ‘सभी के साथ मिलकर, सभी के लिए विकास, और सभी के विश्वास’ के बारे में कहती हैं (सबका साथ, सबका साथ, सबका विकास)  मेरा मानना ​​है कि यह इस सरकार की घोषणापत्र है।”

उन्होने कहा, “हर एक लोकतंत्र में विरोध है … मैं इस सरकार द्वारा निर्धारित उद्देश्य के रूप में ‘सभी के साथ, सभी के लिए विकास और सभी का विश्वास’ का संदर्भ देता हूं और मुझे यकीन है कि उस ‘सभी का विश्वास’ ( ) विश्वास है कि यह उन चिंताओं को संबोधित करेगा जो सीएए के बारे में व्यक्त की गई हैं। लेकिन इससे निपटने के लिए भारत सरकार है।

यूरोपीय संसद में एंटी-सीएए प्रस्तावों पर उन्होंने कहा कि संसदों के लिए प्रमुख लोकतांत्रिक संस्थानों में विभिन्न विषयों पर बहस करने की आदत है। यूरोपीय संघ से ब्रिटेन के ऐतिहासिक प्रस्थान की पूर्व संध्या पर, श्री अस्क्विथ ने जोर देकर कहा कि ब्रिटेन भारत का सबसे महत्वपूर्ण यूरोपीय भागीदार बना रहेगा। उन्होंने कहा कि राजनयिक और व्यापार गतिविधि का विस्तार होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles