Saturday, June 12, 2021

 

 

 

रोजगार का वादा भी हुआ जुमला साबित, देश में बढ़ रही हैं बेरोजगारी, खुद मोदी सरकार ने स्वीकारा

- Advertisement -
- Advertisement -

केंद्र सरकार ने सोमवार को राज्यसभा में स्वीकार किया कि देश में बेरोजगारी दर में इजाफा हो रहा है. इसी के साथ ये बात भी स्वीकार की गई कि ये बेरोजगारी खासकर पिछड़े वर्ग में ज्यादा बढ़ रही हैं.

प्रश्नकाल के दौरान एक सवाल के जवाब में योजना राज्य मंत्री राव इंद्रजीत सिंह ने कहा कि कुल मिलाकर बेरोजगारी दर में इजाफा हुआ है, लेकिन यह दर अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) के लिए अधिक है. इंद्रजीत सिंह ने राज्यसभा में पूरक सवालों के जवाब में यह जानकारी दी.

मंत्री ने कहा कि कुल बेरोजगारी दर पांच फीसदी है, जबकि यह ओबीसी के लिए 5.2 फीसदी है. साल 2013 में बेरोजगारी दर 4.9 फीसदी, 2012 में 4.7 फीसदी तथा 2011 में 3.8 फीसदी थी. वहीं, अनुसूचित जाति में यह दर साल 2011 में 3.1 फीसदी थी, जो अब बढ़कर पांच फीसदी हो गई है.

मोदी सरकार ने सत्ता में आने के बाद देश में रोजगार बढ़ाने के लिए स्टार्टअप इंडिया, मेक इन इंडिया और मुद्रा योजना जैसी स्कीम की शुरुआत की लेकिन युवाओं की इनसे कुछ खास फायदा मिलता नजर नहीं आ रहा हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles