Friday, September 24, 2021

 

 

 

JNU हिंसा पर हिंदू रक्षा दल का दावा – नकाबपोश हमलावर हमारे कार्यकर्ता, आगे भी होंगे ऐसे हमले

- Advertisement -
- Advertisement -

जेएनयू में रविवार रात हुए हमले की जिम्मेदारी हिंदू रक्षा दल संगठन के अध्यक्ष पिंकी चौधरी ने ली है। चौधरी ने दावा किया है कि उसी ने कैंपस में हमला करवाया था। चौधरी का कहना है कि उसी के कार्यकर्ताओं ने वहां हिंसा की है। एक वायरल विडियो में जेएनयू में देश विरोधी गतिविधियों का आरोप लगाते हुए हिंदू रक्षा दल के अध्यक्ष पिंकी चौधरी ने चेतावनी दी कि ऐसी गतिविधियां बर्दाश्त नहीं की जाएंगी।

पिंकी चौधरी ने आगे कहा, ‘देश विरोधी गतिविधियां, अगर हमारे यहां कोई करेगा, तो उसे इसी तरह का जवाब दिया जाएगा जैसे हमने कल शाम को दिया। और इसकी जिम्मेदारी हम लेते हैं। हमारे धर्म के खिलाफ, इतना गलत बोलना किस तरह का इन लोगों का व्यवहार है। कई वर्षों से जेएनयू कम्यूनिस्टों का अड्डा बना हुआ है और ऐसे अड्डे हम लोग बर्दाश्त नहीं कर सकते हैं। हम लोग अपने धर्म के लिए अपने प्राण न्योछावर करने को तैयार रहते हैं।’

खबरों के मुताबिक, पिंकी चौधरी आम आदमी पार्टी के दफ्तर समेत अन्य कई मामलों में जेल जा चुका है। वीडियो सामने आने के बाद लोग पिंची चौधरी को गिरफ्तार करने की मांग कर रहे हैं। वहीं, पुलिस कह रही है कि मामले की जांच हो रही है। हालांकि अभी यह सिर्फ हिंदू रक्षा दल का दावा है, इस मामले में पुलिस को अभी कोई साक्ष्य नहीं मिले हैं।

गौरतलब है कि जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी के परिसर में लाठी और डंडों से लैस कुछ नकाबपोशों ने छात्रों और शिक्षकों के साथ मरपीट की थी। इस दौरान JNU छात्रसंघ की अध्यक्ष आईशी घोष समेत 25 से ज्यादा छात्र घायल हो गए थे।

आईशी ने बताया था कि साबरमति हॉस्टल में कुछ नकाबपोशों ने उन्हें बुरी तरह से पीटा। इस हमले में जेएनयू की प्रोफेसर सुचरिता सेन भी बुरी तरह से घायल हुई थीं। घायलों को दिल्ली एम्स में भर्ती कराया गया था, जिन्हें सोमवार को अस्पताल से छुट्टी मिली थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles