Friday, December 3, 2021

केरल के मुस्लिम लड़के ने की हिन्दू लड़की के साथ शादी, हाई कोर्ट ने की रद्द , सुप्रीम कोर्ट में हुई सुनवाई

- Advertisement -

नई दिल्ली | हमारा देश चाहे कितना भी आधुनिक हो जाए लेकिन अभी भी एक हिन्दू लड़की या लड़के की शादी किसी मुस्लिम के साथ होने से समाज में उबाल आ जाता है. हमारा कट्टरपंथी समाज अभी भी ऐसी शादियों को मान्यताये देने से हिचकता है. देश की अदालतों में रोजाना न जाने कितने मामले आते है जिसमे लड़का लड़की का धर्म अलग अलग होता है. लेकिन फ़िलहाल हिन्दू मुस्लिम की शादी को एक नए चश्मे से देखा जा रह है. इसे लव जिहाद का नाम दिया जा रहा है.

शुक्रवार को एक ऐसे ही मामले में सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई. मामले के अनुसार शाफिन जहान ने एक पिछले साल दिसम्बर में एक 24 वर्षीय हिन्दू लड़की से शादी की थी. लड़की के पिता का आरोप है की शाफिन ने बहला फुसलाकर उनकी लड़की से शादी की. उनका यह भी आरोप है की पुरे केरल में इस तरह के मामले सामने आ रहे है. कट्टरपंथी समूह एक साजिश के तहत हिन्दू लडकियों को बहला फुसलाकर उनका धर्म बदलवा रहे है.

वही शाफिन का कहना है की लड़की ने शादी से पहले ही इस्लाम धर्म कबूल कर लिया था. वो एक बालिग़ लड़की है और उसने अपनी इच्छा से इस्लाम धर्म अपनाया. इसके अलावा लड़की ने अपनी मर्जी से इस्लामिक रीती रिवाजो से मेरे साथ शादी की. शाफिन ने लड़की के पिता पर आरोप लगाया की उन्होंने उसकी पत्नी को गैरकानूनी तरीके से कही छुपाया हुआ है. मैं कोर्ट से आग्रह करता हूँ की लड़की को कोर्ट में पेश करने का आदेश दे.

उधर लड़की के पिता की और से उनके वकील माधवी दीवान ने कहा की केरल में इस तरह के मामले आम है. यह केस केवल ऐसे मामलों का अंश भर है. वहां कट्टरता हावी हो चुकी है. शाफिन एक अपराधी है, उनकी बेटी एक ऐसे गिरोह के जाल में फंस गयी है जिनका सीधा सम्बन्ध IS से है. माधवी ने कोर्ट से मामले की जाँच कराने और सभी दोषियों के खिलाफ कार्यवाई करने की मांग की.

उधर शाफिन की तरफ से दलील देते हुए वकील कपिल सिब्बल ने कहा की एक बार लड़की के पिता उसे कोर्ट के सामने लाये तो दूध का दूध पानी का पानी हो जायेगा. हम पूछना चाहते है की क्या लड़की जिन्दा है? उसको कोर्ट में पेश करे सच सामने आया जायेगा, वो कोई बच्ची नही है? सुनवाई के बाद जस्टिस जेएस खेहर और डीवाय चंद्रचूड ने केरल सरकार और NIA को नोटिस जारी कर अपना जवाब दाखिल करने के लिए कहा.

इसके अलावा कोर्ट ने लड़की के पिता से लड़की को कोर्ट में पेश करने के लिए कहा. हालाँकि वकील माधवी ने कोर्ट को सलाह देते हुए कहा की एक बार आप सभी दस्तावेजो की जांच कर ले, अगर कुछ आपत्तिजनक मिलता है तो आप लड़की को समन कर सकते है. बताते चले की केरल हाई कोर्ट ने दोनों की शादी को रद्द करते हुए लड़की को उसके पिता को सुपुर्द करने का आदेश दिया था.

- Advertisement -

[wptelegram-join-channel]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles