हाजी अली दरगाह में मुख्य मज़ार तक महिलाओं के प्रवेश के मामलें में आज बॉम्बे हाइकोर्ट ने अपना फैसला दे दिया हैं. बॉम्बे हाइकोर्ट ने 2012 से महिलाओं के जाने पर लगी पाबंदी को असंवैधानिक बताते हुए हटा लिया. साथ ही हाईकोर्ट ने राज्य सरकार से दरगाह जाने वाली महिलाओं को सुरक्षा मुहैया कराने को कहा है.

जस्टिस वीएम कनाडे और जस्टिस रेवती मोहिते-डेरे की खंडपीठ ने मामले की सुनवाई की. दरगाह ट्रस्ट ने हाई कोर्ट के फैसले के खि‍लाफ सुप्रीम कोर्ट में अपील करने का फैसला किया हैं. ट्रस्ट की ओर से दायर याचिका के कारण अदालत ने अपने इस आदेश पर छह हफ्ते के लिए रोक लगा दी है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

एमआईएम पार्टी के नेता हाजी रफत हुसैन ने फैसले पर नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि कोर्ट को बीच में नहीं आना चाहिए था. हम इसके खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में जाएंगे। वहां बैन लगा है तो वो रहना चाहिए था.

Loading...