गांधीनगर | पाटीदार आरक्षण आन्दोलन के अगुआ हार्दिक पटेल ने गुजरात में 44 पाटीदार विधायको को लेकर बेहद ही विवादित बयान दिया है. उन्होंने सभी विधयाको को गधा बताते हुए कहा की ये विधायक 14 पाटीदार युवको की मौत के बाद भी चुप रहे. हार्दिक के बयान से लगता है की ‘गधा राजनीती’ अब उत्तर प्रदेश से निकलकर गुजरात पहुँच गयी है. हार्दिक के बयान से वहां की राजनीती गर्माने का पूरा अंदेशा जताया जा रहा है.

हार्दिक पटेल ने गुरुवार को सूरत क्राइम ब्रांच के सामने पेश होने के बाद एक जनसभा को संबोधित किया. संबोधित करते हुए कब वो अपनी मर्यादा से बाहर चले गये, यह उनको भी पता नही चला. उन्होंने पाटीदार समाज के 44 विधायको पर बेहद ही अमर्यादित टिप्पणी करते हुए कहा की लोग मुझसे पूछते है की आखिर इतने बड़े आरक्षण आन्दोलन से आपको क्या मिला?

हार्दिक ने आगे कहा की मैं उनको जवाब देता हूँ की हमें 44 पाटीदार गधे विधायक मिले. ये विधायक 14 पाटीदार समाज के युवको की मौत पर भी खामोश रहे. हार्दिक यही नही रुके उन्होंने सभी विधायको के डीएनए में खोट बताते हुए कहा की बीजेपी के कहने पर जिन विधायको ने उनका साथ नही दिया , उनके डीएनए में ही खोट है. हार्दिक पटेल फ़िलहाल जमानत पर बाहर चल रहे है.

पिछले साल पाटीदार आरक्षण आन्दोलन के समय युवको को भड़काने के आरोप में हार्दिक पर देश द्रोह का मुकदमा चल रहा है. इस आरोप में वो करीब 9 महीने जेल भी रह चुके है. जमानत देते हुए कोर्ट ने शर्त रखी थी की वो छह महीने गुजरात से बाहर रहेंगे. हार्दिक अपनी तड़ीपार की अवधि पूरी कर गुजरात लौट चुके है. इसके बाद वो मुंबई पहुंचे और बीएमसी चुनावो में शिवसेना के पक्ष में प्रचार किया.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें