Wednesday, January 19, 2022

नरसिम्हा राव की हिन्दूवादी सोच होने के कारण गिरी बाबरी मस्जिद

- Advertisement -

उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी ने बाबरी मस्जिद की शहादत के लिए तत्कालीन प्रधानमंत्री नरसिम्हा राव को पूरी तरह से जिम्मेदार ठहराया हैं. उन्होंने कहा कि नरसिम्हा राव की हिंदूवादी सोंच के कारण बाबरी मस्जिद गिरी हैं.

विनय सीतापति द्वारा लिखित किताब ‘हाफ लायन’ के विमोचन समारोह के दौरान उपराष्ट्रपति ने कहा संसद के प्रबंधन और बाबरी मस्जिद के विध्वंस से संबंधित पुस्तक के दो हिस्से टिप्पणियां आमंत्रित करेंगी.

हामिद अंसारी ने कहा, “अभिशाप 26 जुलाई 1992 को विश्वास मत के साथ आया. सरकार का उद्देश्य किसी भी कीमत पर अपना अस्तित्व बचाए रखना था. अनैतिक हथकंडों का सहारा लिया गया. ये आखिरकार कानून की सीमा से परे पाए गए. स्पष्ट है कि यह नरसिम्हा राव के करियर का सबसे खराब राजनैतिक फैसला था.”

उन्होंने आगे कहा, “निष्कर्ष अपरिहार्य है कि हिचक राजनैतिक दृष्टि से थी, न कि संवैधानिक लिहाज से थी. निष्कर्ष के तौर पर कहा जा सकता है कि नरसिम्हा राव ने देश के लिए जो अच्छा किया वो उनके बाद भी है और नुकसान भी बदस्तूर जारी है और भारी कीमत वसूल रहा है.”

इस दौरान वरिष्ठ कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर ने कहा, “हमने प्रधानमंत्री को खतरे के प्रति सजग होने के लिए राजी करने की कोशिश की लेकिन उस व्यक्ति ने खतरे के प्रति सजग होने से इनकार कर दिया.”

- Advertisement -

[wptelegram-join-channel]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles