haji1

मुंबई स्थित हाजी अली दरगाह में महिलाओं के प्रवेश को लेकर दरगाह ट्रस्ट ने आखिरकार मुंबई हाई कोर्ट के फैसले को मान लिया. सोमवार को सुप्रीम कोर्ट में मामले की सुनवाई के दौरान दरगाह ट्रस्ट ने कहा कि वो बॉम्बे हाईकोर्ट के फैसले को मानने के लिए तैयार है.

बॉम्बे हाईकोर्ट के फैसले के अनुसार दरगाह ट्रस्ट 2012 से दरगाह में म‍हिलाओं के प्रवेश पर लगा प्रतिबंध अब हट जाएगा. साथ ही महिलाओं को मुख्य मज़ार तक जाने की इजाजत मिल जाएगी. हालांकि दरगाह ट्रस्ट ने महिलाओं के प्रवेश के लिए अलग रास्‍ता बनाने की बात कही हैं.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

चीफ जस्‍टीस टीएस ठाकुर, न्‍यायमूर्ति डीवाय चंद्रचूड़ और एल नागेश्‍वर राव की बेंच ने दरगाह ट्रस्ट की और से महिलाओं के प्रवेश के लिए अलग रास्‍ता बनाने के लिए 4 सप्‍ताह के वक्‍त मांग को भी मान लिया हैं.

गौरतलब रहें कि शरीअत का हवाला देकर 2012 से ही हाजी अली दरगाह में महिलाओं के प्रवेश पर प्रतिबंध था. जिसे मुबई हाई कोर्ट ने अपे फैसले में संविधान में दिए गए भूलभूत अधिकारों का उल्लंघन बताते हुए महिलाओं के प्रवेश की इजाजत दी थी.

Loading...