लगभग 23 साल बाद एक बार फिर हाजी साहेबान हज की अदायगी के लिए सऊदी अरब की यात्रा समुद्री जहाजों के जरिए कर सकेंगे. दरअसल, हज नीति-2018 तय करने के लिए गठित उच्चस्तरीय समिति यात्रियों को समुद्री मार्ग से सऊदी अरब के जेद्दा शहर भेजने के विकल्प पर विचार कर रहा हैं.

अल्पसंख्यक मंत्रालय के मुताबिक़ मुबई से जेद्दाह तक पानी के रास्ते हाजियों को भेजने की प्रक्रिया को साल 1995 में इसलिए रोक दिया गया था क्योंकि उन्हें ले जाने वाला एम वी अकबर जहाज काफी पुराना हो गया था. हालांकि अब 2012 में आए सुप्रीम कोर्ट के आदेश को ध्यान में रखते हुए इस विकल्प पर विचार किया जा रहा है.

हज समिति इस विकल्प पर इसलिए विचार कर रही है कि क्योंकि 2012 में सुप्रीम कोर्ट केंद्र सरकार को 2022 तक हज यात्रियों को दी जाने वाली सब्सिडी खत्म करने का आदेश दे चुकी हैं. माना जा रहा हैं कि हज यात्रियों को जहाज (समुद्री मार्ग) से भेजने पर यात्रा संबंधी खर्च “करीब आधा” हो जाएगा.

अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा, ‘समिति समुद्री मार्ग सहित सभी विकल्पों पर गौर रही है. अगर चीजें तय हो जाती हैं तो फिर यह एक क्रांतिकारी और हजयात्रियों के हित में फैसला होगा.’

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?