गुरुग्राम नमाज़ विवाद का निकला हल, अब देना होगा किराया तब अदा होगी नमाज़

पिछले कुछ दिनों से गुरुग्राम में जुमे की नमाज को लेकर विवाद चल रहा था। नमाज को लेकर विरोध कर रहे कुछ संगठनों का कहना था कि जुमे की नमाज जो कि खुले में होती है वाह खुले में नमाज नहीं होने देंगे। इसको लेकर काफी समय से बवाल मचा हुआ था लेकिन अब इस विवाद का हल निकल आया है।

रिपोर्ट के मुताबिक डॉ यश गर्ग ने सोमवार को दोनों पक्षों की बैठक बुलाई जिसमें फैसला लिया गया की गुरुग्राम में अब सभी सार्वजनिक जगहों पर जुमे की नमाज नहीं होगी। उनके मुताबिक जुम्मे की नमाज 12 मस्जिदों में होगी। दरअसल इस बैठक में इमाम संगठन के समुदाय ने आपसी सहमति से कुल 18 स्थानों पर नमाज अदा करने की सहमति बनाई है।

इनमें से 12 स्थान मुस्लिम समुदाय की मस्जिद या ईदगाह है। आयुक्त के मुताबिक 6 सार्वजनिक जगहों पर नमाज पढ़ने की इजाजत दी गई है जिसके लिए उन्हें किराया देना होगा और वक्फ बोर्ड की जमीन उपलब्ध होते ही उन छह जगहों पर भी नमाज अदा बन कर दी जाएगी।

यह 6 स्थान जिला प्रशासन द्वारा उपलब्ध कराए जाएंगे। गुरुग्राम के वक्फ बोर्ड के 19 स्थान ऐसे भी हैं जो कि लीज पर दिए गए हैं और अभी उन पर कब्जा है। जिला प्रशासन जैसे ही इन स्थानों को खाली कराकर मुस्लिम समुदाय को सौंपा तो वैसे वैसे जिला प्रशासन द्वारा दिए छह स्थानों पर नमाज अदा करना बंद करनी होगी। इस समझौते के बीच दोनों पक्षों में आपसी समझौता हुआ है और अब विवाद खत्म हो गया है।

विज्ञापन