गुड़गांव मारपीट केस: FIR वापस लेने का दबाव, मुस्लिम परिवार ने दी सामूहिक खुद’कुशी की धमकी

10:58 am Published by:-Hindi News

गुड़गांव: हरियाणा के गुड़गांव में भीड़ द्वारा किए गए हमले के पीड़ित परिवार ने सोमवार को सामूहिक रूप से खुदकुशी करने की धमकी दी है। पीड़ित परिवार का कहना है कि उन पर प्राथमिकी वापस लेने का दबाव बनाया जा रहा है और स्थानीय नेताओं के ‘प्रभाव’ में पुलिस कार्रवाई नहीं कर रही है।

परिवार के सदस्य अख्तर ने कहा, ‘‘ हमले की वीडियो इंटरनेट पर वायरल होने के बाद मामला अब सार्वजनिक है। फिर भी पुलिस 35 से ज्यादा गुंडों को गिरफ्तार करने में नाकाम रही है। अगर गुड़गांव पुलिस और जिला प्रशासन हमारी मदद नहीं करते हैं तो हमारे पास सामूहिक रूप से खुदकुशी करने के सिवा कोई और विकल्प नहीं रह जाएगा।’’

अख्तर ने कहा, ‘‘ हम घटना के पीड़ित हैं, लेकिन गुड़गांव पुलिस ने हमारे परिवार के दो लोगों पर प्राथमिकी दर्ज की है जो हम पर दबाव बनाने की कोशिश है।’’ पुलिस उपायुक्त हिमांशु गर्ग ने कहा कि हमने अबतक 13 लोगों को गिरफ्तार किया है और अन्य तलाश की जा रही है। हम किसी का पक्ष नहीं ले रहे हैं।

अख्तर ने आगे कहा कि करीब 30 से 40 लोगों ने मिलकर घर में घुसकर जानलेवा हमला किया था। पूरे परिवार को लाठी-डंडों व लोहे की रॉड से पीटा गया। पथराव के साथ ही लूटपाट की गई, लेकिन 30-40 में से अब तक सिर्फ 13 आरोपियों को ही अरेस्ट किया गया है। अन्य आरोपियों को भी जल्द पकड़ा जाना चाहिए और दर्ज एफआईआर रद्द की जाए।

वहीं मुस्लिम एकता मंच के चेयरमैन हाजी सज्जान खान ने कहा कि 21 मार्च को हुए हादसे के बाद आरोपी पक्ष ने 26 मार्च को शिकायत दी कि उनके भी 2-3 युवकों को चोटें आईं हैं। 5 दिन बाद शिकायत देना खुद में सवाल खड़ा करता है। जान-बूझकर पीड़ित पक्ष पर दबाव बनाने के लिए क्रॉस एफआईआर की गई। अब उन्हें जेल जाने का डर दिखाकर समझौते का दबाव बनाया जा रहा है। घर में घुसकर किस बेहरमी से पीटा गया, यह वीडियो में सबने देखा है। इसके बावजूद भी प्रशासन क्रॉस एफआईआर दर्ज कर दबाव बना रहा है, जो सरासर गलत है।

खानदानी सलीक़ेदार परिवार में शादी करने के इच्छुक हैं तो पहले फ़ोटो देखें फिर अपनी पसंद के लड़के/लड़की को रिश्ता भेजें (उर्दू मॅट्रिमोनी - फ्री ) क्लिक करें