नई दिल्ली | 1 अप्रैल को राजस्थान के बहरोड़ में गौ तस्करी के आरोप में लोगो की पिटाई का मामला आज संसद तक जा पहुंचा. राज्यसभा में कांग्रेस ने इस मामले को उठाते हुए स्थगन प्रस्ताव पेश किया. जिसको उपसभापति ने ख़ारिज कर दिया. उधर राहुल गाँधी ने भी मामले के सभी आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्यवाही करने की मांग की. हालाँकि सरकार ने इस तरह की किसी भी घटना से इंकार किया है.

गुरुवार को राज्यसभा की कार्यवाही शुरू होते ही कांग्रेस नेता गुलाब नबी आजाद ने अलवर में हुई घटना पर बोलना शुरू किया. इस पर जवाब देते हुए केन्द्रीय मंत्री मुख़्तार अब्बास नकवी ने कहा की जिस तरह की घटना पेश की जा रही है , वैसी कोई घटना घटित ही नही हुई है. इस पर गुलाब नबी ने तंज कसते हुए कहा की मुझे बहुत अफ़सोस है की मंत्री जी को इस बारे में कुछ नही मालूम. यहाँ तक की न्यूयॉर्क टाइम्स को पता है लेकिन मंत्री जी को नही.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इस पर जवाब देते हुए नकवी ने कहा की सरकार गौरक्षा के नाम पर गुंडागर्दी का समर्थन नही करती. यह मामला बेहद संवेदनशील है इसलिए हम नही चाहते की सदन से कोई गलत मेसेज बाहर जाये. उधर उपसभापति पी कुरियन ने कहा की पहले गृह मंत्रालय रिपोर्ट दे की ऐसी कोई घटना घटित नही हुई है तभी इस पर चर्चा संभव है.

उधर कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गाँधी ने भी घटना पर दुःख व्यक्त किया है. उन्होंने ट्वीट कर लिखा,’ यह चौकाने वाली घटना है, अलवर में लॉ एंड आर्डर तोडा गया. सरकार को जिम्मेदार लोगो के खिलाफ सख्त कार्यवाही करने चाहिए.’ अपने अगले ट्वीट में राहुल ने राज्य सरकार पर अपनी जिम्मेदारियों से बचने का आरोप लगाते हुए कहा ,’ जब सरकार अपनी जिम्मेदारियों से बचती है और भीड़ को किसी की भी हत्या करने की इजाजत देती है तो ऐसी त्रासदिया ज्यादा होती है.’

Loading...