गांधीनगर | एनकाउंटर स्पेशलिस्ट के नाम से मशहूर पूर्व आईपीएस डीजी बंजारा ने प्रधानमंत्री मोदी को लेकर एक विवादित बयान दिया है. उन्होंने एक सम्मान समारोह में बोलते हुए कहा की अगर हम एनकाउंटर न करते तो देश को नरेंद्र मोदी जैसा प्रधानमंत्री न मिलता. उन्होंने गुजरात पुलिस को सर्वर्श्रेष्ठ बताते हुए कहा की हमारी पुलिस ने वो काम किया है जो दुसरे प्रदेश की पुलिस नही कर पायी.

वंजारा ने नेताओ की बेहतर सुरक्षा करने के लिए अपनी पीठ थपथपाते हुए कहा की नेताओं की सुरक्षा तय करना पुलिस का काम होता है क्योकि आतंकवादियों के निशाने पर नेता हमेशा होते है. इस काम में गुजरात पुलिस खरी उतरी है क्योकि हमने मोदी जी की सबसे बेहतर तरीके से सुरक्षा की जो बाकी प्रदेशो की पुलिस करने में विफल रहे.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

वंजारा ने उदहारण देते हुए कहा की पंजाब में बेअंत सिंह की हत्या कर दी गयी. इंदिरा गाँधी और राजीव गाँधी की ह्त्या की गयी. यह सब इसलिए हो पाया क्योकि वहां की पुलिस अपने नेताओं की सुरक्षा करने में नाकाम रही. अगर हम प्रदेश में एनकाउंटर न करते तो शायद देश को मोदी जैसा प्रधानमंत्री भी न मिलता. इशरत जहाँ का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा की मैं हमेशा कहता था की इशरत जहाँ आतंकी है लेकिन कोई नही माना. लेकिन डेविड हेडली ने इस बात की पुष्टि की की इशरत लस्कर-तैयबा की सदस्य थी.

मालूम हो की वंजारा इशरत जहाँ के कथित फर्जी एनकाउंटर मामले में जमानत पर बाहर चल रहे है. उनके ऊपर 2002 से 2005 के बीच 20 एनकाउंटर करने के आरोप है. सभी एनकाउंटर की जांच करने पर की ने उन्हें फर्जी माना था. वंजारा अपने सम्मान समारोह में इन्ही एनकाउंटर की बात कर रहे थे. वंजारा ने अपनी पीठ थपथपाते हुए कहा की 33 जिलो में से 30 जिलो में मेरा सम्मान किया जा चूका है. इससे यह बात साबित होती है की गुजरात की जनता , गुजरात पुलिस पर भरोसा करती है.

Loading...