shehla-rashid

फतेहपुर रैली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के उस बयान पर जिसमें पीएम ने हिंदुत्व का कार्ड खेलते हुए हिन्दू-मुस्लिमों को बाँटने की कोशिश की, का जमकर विरोध हो रहा हैं.

रविवार को मोदी ने कहा था, ‘गांव में अगर कब्रिस्तान बनता है तो श्मशान भी बनना चाहिए, अगर रमजान में बिजली रहती है तो दिवाली में भी बिजली आनी चाहिए.’

इस बयान पर पलटवार करते हुए जेएनयू छात्र संघ की पूर्व उपाध्यक्ष और आईसा कार्यकर्ता शेहला राशिद ने कहा, “मोदी जी गुजरात में कब्रिस्तान बना के शांति नहीं मिली, जो अब यूपी में श्मशान बनाने चले हैं”?

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

उन्होंने बीजेपी के मैनिफेस्टो में शामिल राम मंदिर निर्माण पर तंज़ कसते हुए सवाल किया, क्या अब मैनिफेस्टो में श्मशान निर्माण भी शामिल होगा?

Loading...