Thursday, August 5, 2021

 

 

 

गुजरात में नेतृत्व परिवर्तन की खबर चलाने पर पत्रकार गिरफ्तार, कांग्रेस ने उठाए सवाल

- Advertisement -
- Advertisement -

अहमदाबाद। गुजरात में एक समाचार पोर्टल के संपादक के खिलाफ राजद्रोह का मामला दर्ज कर गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने अपने पोर्टल पर खबर चलाई थी कि भाजपा आलाकमान मुख्यमंत्री विजय रूपाणी के स्थान पर केंद्रीय मंत्री मंसुख मंडाविया को मुख्यमंत्री बना सकता है।

समाचार एजेंसी भाषा की रिपोर्ट के मुताबिक, पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि अहमदाबाद अपराध शाखा ने ‘फेस ऑफ नेशन’ समाचार पोर्टल के संपादक धवल पटेल के खिलाफ शुक्रवार को भारतीय दंड संहिता की धारा 124-ए (राजद्रोह) और आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई। सहायक पुलिस आयुक्त बीवी गोहिल ने बताया कि कोरोना वायरस की वजह से पटेल को गिरफ्तार नहीं किया गया है, बल्कि हिरासत में लिया गया है और उन्हें कोरोना वायरस की जांच के लिए एसवीपी अस्पताल भेजा गया है।

इस मामले में प्रदेश कांग्रेस विजय रुपाणी सरकार पर हमलावर हो गई है। पार्टी ने प्रदेश सरकार की कार्रवाई को कायराना हरकत बताया। कांग्रेस प्रवक्ता शक्ति सिंह गोहिल ने कहा कि अगर बीजेपी सरकार की लीडरशिप की आलोचना अपराध है तो बीजेपी नेता सुब्रह्मण्यम स्वामी के खिलाफ केस क्यों नहीं दर्ज किया जा रहा है?

गोहिल ने स्वामी के एक ट्वीट का हवाला दिया, जिसमें उन्होंने गुजरात में नेतृत्व परिवर्तन को जरूरी बताया था। स्वामी ने अपने ट्वीट में कहा था कि गुजरात में कोरोना वायरस के शिकार होने वालों की संख्या तभी नियंत्रित की जा सकती है जब आनंदीबेन की गुजरात के मुख्यमंत्री पद पर वापसी हो। स्वामी ने अपने इस ट्वीट से अपनी ही पार्टी के सीएम विजय रुपाणी के गवर्नेंस पर सवाल उठाया था।

गोहिल ने स्वामी के इसी ट्वीट को आगे रखकर गुजरात सरकार पर हमला बोला है। उन्होंने कहा कि सीएम विजय रुपाणी की एक कायराना हरकत से गुजरात हैरान है। रुपाणी के निर्देश पर गुजरात पुलिस ने लोकल वेबसाइट के संपादक धवल पटेल को गैर-जमानती धारा के तहत गिरफ्तार कर लिया। गोहिल ने आगे कहा, ‘रुपाणीजी, अगर आपकी लीडरशिप को क्रिटिसाइज करना अपराध है तो सुब्रहमण्यम स्वामी के खिलाफ केस क्यों नहीं दर्ज किया गया।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles