Monday, October 18, 2021

 

 

 

मोरारजी देसाई भारत के ऐसे प्रधानमंत्री, जो पीते थे रोज खुद का पेशाब

- Advertisement -
- Advertisement -

desai1 650 041017011903

देश के चौथे प्रधानमंत्री मोरारजी देसाई अपनी यूरीन थेरपी के लिए दुनिया भर में चर्चित रहे है. खुद के पेशाब पीने की आदत मोरारजी के मुंह सात समंदर पार अमेरिका के अखबारों की सुर्खिया बनी थी.

दरअसल अमेरिकी दौरे के दौरान एबीसी न्‍यूज से बातचीत में देसाई ने स्वीकारा था कि वे अपना पेशाब पीते है. बाकायदा उन्होंने चैनल के शो (60 मिनट्स) में अपना करीब आधा वक्‍त ‘यूरीन थेरेपी’ की महत्‍ता बताने पर ही खर्च कर दिए थे.

इस दौरान उन्होंने कहा था महंगा इलाज करवाने में अक्षम भारतीय मूत्र सेवन में बीमारी का इलाज ढूंढ सकते हैं.  देसाई का विश्वास था कि मूत्र सेवन उपचार की वैकल्पिक और कारगर विधि है. देसाई मानते थे कि अगर पेशाब से आंखों को धोया जाए तो जीवन में कभी भी मोतियाबिंद की शिकायत नहीं हो सकती.

मोरारजी देसाई मूलत: बांबे प्रेसिडेंसी (अब गुजरात) के वलसाड में पैदा हुए थे. उन्हें भारतीय राजनीति के दिग्गज नेता के रूप में माना जाता है. इन दिनों वे गुजरात विधानसभा चुनाव में चर्चा का विषय बने हुए है.

सोमवार को पीएम मोदी ने कांग्रेस पर निशाना साधने के लिए मोरारजी का सहारा लिया. गुजराती अस्मिता का ज़िक्र करते हुए मोदी ने कहा, ‘मोरारजी देसाई, सूरत के रहने वाले गुजराती को इंदिरा गांधी ने रातोंरात वित्त मंत्री के तौर पर बर्खास्त कर दिया. बर्खास्तगी के बाद देसाई ने कहा था कि उन्हें सब्ज़ी की तरह फेंक दिया गया.’

उन्होंने कहा कि देसाई की बर्खास्तगी पर पर्दा डालने के लिए कांग्रेस की तत्कालीन सरकार ने बैंकों के राष्ट्रीयकरण का ड्रामा रचा था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles