नई दिल्ली | पिछले दस सालो से लटका पड़ा देश का सबसे बहुप्रतीक्षित बिल, जीएसटी आज लोकसभा में पास हो गया. बिल पास होने के बाद प्रधानमंत्री मोदी ने देशवासियों को बधाई देते हुए कहा की आप सबको जीएसटी बिल पास होने पर बधाई. न्यू इयर, न्यू लॉ, न्यू इंडिया. लोकसभा में इस बिल को चार संसोधनो के साथ पास किया गया. हालाँकि बिल पर चर्चा के दौरान काफी हंगामा भी हुआ.

मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस ने बीजेपी पर आरोप लगाया की उन्होंने जीएसटी को करीब 8 साल से लटकाए रखा. इसलिए देश को 12 लाख करोड़ रूपए का नुक्सान हुआ. कांग्रेस ने बीजेपी से पुछा की आखिर इस नुक्सान की भरपाई कौन करेगा. लोकसभा में कांग्रेस नेता वीरप्पा मोइली ने जीएसटी सम्बन्धी विधेयको पर चर्चा में भाग लेते हुए उन्होंने कहा की जिस जीएसटी बिल को बीजेपी क्रन्तिकारी कर सुधार बता रही है वो मात्र एक छोटा सा कदम है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

वीरप्पा मोइली ने बीजेपी को पुराने दिन याद दिलाते हुए कहा की पूर्ववर्ती युपीए सरकार जीएसटी को लेकर आई थी लेकिन तब बीजेपी ने उसे पास नही होने दिया था. अब बीजेपी इसको गेम चेंजर बता रही है. जबकि प्रस्तावित प्रावधान जीएसटी की मूल भावना के बिलकुल विपरीत है. इस बिल में कई कर, उपकार और सरचार्ज लगे होने की वजह से एक राष्ट्र और एक कर की अवधारणा मात्र मिथक है.

मोइली ने आरोप लगाया की बीजेपी ने बिल को 8 साल रोके रखा. इसलिए हर साल करीब डेढ़ लाख करोड़ का नुक्सान हुआ. इस हिसाब से अभी तक देश को 12 लाख करोड़ का नुक्सान हो चूका है. इस नुक्सान की भरपाई कौन करेगा? इसके अलावा मोइली ने बिल को राज्यसभा में नही लाने पर कहा की यह एक आघात है. आप बहुमत का दुरूपयोग कर रहे है. मोइली ने जीएसटी में प्रस्तावित उच्च कर दरो को भी गलत बताया. उन्होंने कहा की इससे उधोगो पर प्रभाव पड़ेगा. इसलिए यह गेम चेंजर नही केवल छोटा कदम है.

Loading...