Monday, September 20, 2021

 

 

 

सलाफी और वहाबी वेबसाइटों पर सरकार रख रही कड़ी नजर

- Advertisement -
- Advertisement -

इस्लाम की कट्टर व्याख्या करने वाले सलाफी और वहाबी पंथों से जुड़ी वेबसाइटों की सुरक्षा एजेंसिया निगरानी कर रही है। इनमें से ज्यादातर साइटें देश के बाहर से संचालित होती हैं।

दरअसल, सुरक्षा एजेंसियों ने इन ऑनलाइन प्लेटफॉ‌र्म्स पर नियमित रूप से ट्रैफिक देखा है। हाल ही में इन वेबसाइटों को सुरक्षा एजेंसियों ने तब चिह्नित किया जब वे जम्मू-कश्मीर समेत देश के विभिन्न हिस्सों में संचालित इस्लामिक स्टेट (आइएस) मॉड्यूल्स की जांच कर रही थीं।

ऐसे मॉड्यूल्स में शामिल होने वाले ज्यादातर लोग शुरुआत में इंटरनेट पर उपलब्ध चरमपंथी सामग्री से ही प्रभावित होते हैं। इन वेबसाइटों के जरिये ही उनका वैचारिक और सैद्धांतिक मनोबल बढ़ता है।

इनमे से एक वेबसाइट Ikhwanis.com है जो “तथाकथित मुस्लिम ब्रदरहुड के दूसरे (छिपे हुए) चेहरे को फैलाने का दावा करती है।”एक अन्य वेबसाइट, Ashabulhadith.com, मन्हाज-उल-सलाफ या सलाफिज़्म के विश्वास प्रणाली पर है। यह धार्मिक उपदेशों से जुड़ा ऑडियो चलाता है।

इसके अलावा Salaf.com, Manhaj.com , Ibntaymiyyah.com जैसी वेबसाइट है। जिन पर सुरक्षा एजेंसियों की नजर है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles