पणजी । पूर्व रक्षा मंत्री और गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर परिकर ने ड्रग्स को लेकर बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि ड्रग्स उतनी बड़ी समस्या नही है लेकिन इससे हम चिंतित ज़रूर है। उन्होंने कहा कि कॉलेजो में नशे का प्रसार बहुत ज़्यादा नही है। उन्होंने यह भी बताया की प्रदेश में बढ़ती ड्रग्स समस्या को ख़त्म करने के लिए निर्देश दिए गए है। इस दौरान उन्होंने अदालत की कार्यवाही पर भी सवाल उठाए।

शुक्रवार को पणजी के गोमन्तक मराठा समाज हॉल में बोलते हुए उन्होंने उपरोक्त विचार व्यक्त किए। गोवा में हर साल , राज्य विधानमंडल विभाग द्वारा आयोजित किए जाने वाले राज्य युवा संसद में बोलते हुए मनोहर परिकर ने कहा,’ ‘जब मैं आईआईटी में था, तो वहां एक छोटा समूह था जो गांजे का नशा करता था। तो, यह कोई आज की परिघटना नहीं है। कुछ छात्रों पर पोर्नोग्राफी (अश्लील फिल्म) का जुनून सवार था।’

लड़कियों के शराब पीने पर चिंता व्यक्त करते हुए उन्होंने कहा,’ मुझे डर लगने लगा है, क्योंकि अब तो लड़कियों ने भी बियर पीना शुरू कर दिया है… सहन शक्ति की सीमा टूट रही है।’ उन्होंने आगे कहा की मैं सभी लोगों की बात नहीं कर रहा हूं, जो लोग यहां बैठे हैं मैं उनकी बात भी नहीं कर रहा हूं। राज्य में बढ़ते ड्रग्स के कारोबार पर उन्होंने कहा की मैंने इसकी रोकथाम के लिए निर्देश जारी किए है। इसके बाद से क़रीब 170 लोग गिरफ़्तार भी किए जा चुके है।

सीएम ने आगे कहा की हम अपराधियों की धरपकड़ तब तक जारी रखेंगे जब तक यह सब ख़त्म नही हो जाता। हालाँकि मेरा विश्वास है की इसे पूरी तरह से ख़त्म नही किया जा सकता। अदालत की कार्यवाही पर सवाल उठाते हुए उन्होंने कहा की कानून के मुताबिक अगर ड्रग्स की मात्रा कम है तो दोषी को 8 से 15 दिन या एक महीने में ज़मानत मिल जाती है। हमारे न्यायालय इस मामले में नरम रुख अपनाते हैं। पर कम से कम वे पकड़े तो जाते हैं।

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?